भारत के जवानों ने नेपाल को भी सिखाया सबक, रक्सौल बॉर्डर पर हुआ सैनिकों की जय जयकार;

भारत और चीन के बीच जारी तनाव के मध्य भारत और नेपाल के बीच भी इसी प्रकार की स्थितियां पनप रही है। आपको बता दें कि नेपाली संसद में पारित नरेश नेपाल के नक्शे में भारतीय जमीनों को दर्शा कर नेपाल भारत के प्रति अपनी मनोदशा व्यक्त कर चुका है। तथा नेपाली प्रधानमंत्री केपी ओली ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर बार-बार आरोप लगाते हुए कहा कि या दूसरे देशों की सीमाओं पर कब्जा कर लेते हैं। इसी दौरान रक्सौल बॉर्डर पर तैनात एसएसबी के जवानों ने नेपाल को कड़ा सबक सिखाया है। भारतीय सीमा पर तैनात एसएसबी के जवानों ने नेपाल की मनमानी देखते हुए उस पर नकेल कस दी है।
भारत की तरफ से एसएसपी के जवानों ने नेपाल के अधिकारियों को तत्काल बोर्ड लगाने से रोकते हुए वापस भेज दिया। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान थोड़ी देर के लिए बॉर्डर पर तनाव की स्थिति भी बन गई। भारत की तरफ से एसएसबी जवानों ने जब नेपाल के अधिकारियों का प्रतिरोध किया तो वहां तैनात नेपाली पुलिस के जवानों ने उस लोकेशन को अपना बताते हुए जबरन बोर्ड लगाने की बात कही, लेकिन भारतीय एसएसबी के जवान टस से मस नहीं हुए और आखिरकार नेपाल को बैकफुट पर जाना पड़ा।
भारत के कड़े रुख से भड़के नेपाल ने मैथिली पुल पर तैनात अपने जवानों से कहा है कि वह केवल नेपाली नागरिकों को ही अपनी सीमा में आने दे, इसके अलावा किसी अन्य की आवाजाही पर तत्काल रोक लगाने का फैसला भी नेपाल ने किया है। आपको बता दें कि नेपाल और भारत सीमा पर कई जगह पहचान के लिए लगाया गया पिलर गायब है। नो मैंस लैंड में भी नेपाल की तरफ से अतिक्रमण किए जाने की खबर आ रही है जिसके बाद अब भारतीय एसएसबी ने बॉर्डर पर सख्ती बढ़ा दी है।

Advertisement