आज अयोध्या आएंगे मुख्यमंत्री योगी, राम मंदिर शिलान्यास का लेंगे जायजा

अयोध्या. राम के धाम अयोध्या में 5 अगस्त को प्रस्तावित भूमिपूजन को भव्य बनाने के लिए तैयारियों चल रही हैं। करीब 500 साल बाद रामभक्तों की इच्छा पूरी होने जा रही है। भूमिपूजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) शामिल होंगे। मगर उनके आगमन से पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) शनिवार को राम जन्मभूमि परिसर में चल रहीं भूमिपूजन की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचेंगे। इस दौरान उनके साधु-संतों से भी मुलाकात करने की चर्चा है। मुख्यमंत्री योगी सबसे पहले हनुमानगढ़ी में बजरंगबली के दर्शन करेंगे। इसके बाद भूमिपूजन की तैयारियों का जायजा लेंगे।

कोरोना काल में भूमि पूजन के लिए दो गज की दूरी का पालन करते हुए खास तैयारियां की गई हैं। मठ मंदिरों में अनुष्ठान होंगे तो घर-घर दीप जलाकर खुशियां मनाई जाएंगी। दूसरी तरफ सरयू आरती में भी उत्साह दिखेगा। सरयू की महाआरती को भव्य बनाने की तैयारी है लेकिन कोरोना को ध्यान में रखकर सब कुछ लोग व्यक्तिगत करेंगे। इस दिन सामूहिक आयोजन नहीं होगा।

विहिप ने 11 तीर्थस्थलों से भेजी मिट्टी

राम मंदिर आधारशिला का भूमिपूजन देश की पौराणिक नदियों के जल और मिट्टियों से होगी। प्रमुख रूप से पूज्य गंगा, यमुना, कावेरी, सरस्वती और रामगंगा सरयू के जल व मिट्टी को पूजन के लिए मंगाए गया है। सप्तसागर के जल और मिट्टी से भी पूजन किया जाएगा।

विश्व हिंदू परिषद ने राम मंदिर निर्माण के लिए 11 तीर्थ स्थलों की मिट्टी दिल्ली से अयोध्या भेजी है। इसमें दिल्ली के सिद्ध पीठ कालकाजी, प्राचीन पांडव कालीन भैरों मंदिर, पुराना किला, गुरुद्वारा शीशगंज, चांदनी चौक, गौरी शंकर मंदिर, चांदनी चौक, दिगंबर जैन लाल मंदिर, चांदनी चौक, प्राचीन काली माता मंदिर, बंगला साहिब, लक्ष्मी नारायण मंदिर, भगवान वाल्मीकि मंदिर, बद्री भगत झंडेवालान मंदिर, करोल बाग से ये मिट्टी इकट्ठा की गई है।

ये भी पढ़ें: UP TOP NEWS: आज अयोध्या आएंगे मुख्यमंत्री योगी, बजरंगबली के दर्शन के बाद लेगें भूमिपूजन की तैयारियों का जायजा



Advertisement