एनआईए ने किया आतंकी फंडिंग मॉड्यूल का भंडाफोड़, पाकिस्तान पढ़ने भेजने कि सिफारिश के बदले मिलने वाली रकम से होती थी आतंकी फंडिंग

हाल ही में राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने आतंकी फंडिंग मॉड्यूल का पर्दाफाश किया है। एनआईए ने कहा कि जम्मू कश्मीर में मौजूद अलगाववादियों द्वारा कश्मीर के छात्रों को पाकिस्तान में पढ़ने के लिए भेजने की सिफारिश की जाती थी और ये सिफारिश उन छात्रों के लिए किया जाता था जो किसी आतंकी से संबंधित या उनके  रिश्तेदार होते थे या फिर पत्थरबाजी, उपद्रव जैसी हिंसक राष्ट्रविरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहते थे। अलगाववादी पढ़ने भेजने की सिफारिश के बदले छात्रों से पैसा लेते थे और फिर वही पैसे कश्मीर को दहलाने के लिए आतंकियों को भेज दिए जाते थे। विगत सन 2017 में एनआईए द्वारा एक एफआईआर दर्ज की गई और पाकिस्तान समर्थक नेता सैयद शाह गिलानी के दामाद अहमद शाह उर्फ फंटूश को गिरफ्तार किया गया। एनआईए को अलगावादियों द्वारा कश्मीरी छात्रों को पाकिस्तान पढ़ने भेजने के लिए लिखा गया सिफारिशी पत्र हाथ लगा है। एनआईए के मुताबिक अलगाववादियों द्वारा इन सिफारिशी पत्रो के  बदले छात्रों से मोटी रकम ली जाती है और इस रकम का बड़ा हिस्सा कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में संलिप्त संगठनों को भेजी जाती है.

Advertisement