ई-संजीवनी ओपीडी के जरिये घर से ही लें चिकित्सीय परामर्श, लाइन लगाने से मिलेगी निजात

बाराबंकी. वैश्विक महामारी कोरोना के चलते लोगों को अस्पताल के चक्कर न लगाने पड़े, इसको ध्यान में रखते हुए घर से ही चिकित्सीय परामर्श सेवा प्रदान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा टेलीमेडिसिन ई-संजीवनी एप ओपीडी सेवा शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। जिससे अस्पतालों में भीड़ को नियंत्रित कर कोरोना के खतरे को कम किया जा सके और जन समुदाय को सुलभता और सरलता से परामर्श सेवाएं प्राप्त हो सके।बाराबंकी. वैश्विक महामारी कोरोना के चलते लोगों को अस्पताल के चक्कर न लगाने पड़े, इसको ध्यान में रखते हुए घर से ही चिकित्सीय परामर्श सेवा प्रदान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा टेलीमेडिसिन ई-संजीवनी एप ओपीडी सेवा शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। जिससे अस्पतालों में भीड़ को नियंत्रित कर कोरोना के खतरे को कम किया जा सके और जन समुदाय को सुलभता और सरलता से परामर्श सेवाएं प्राप्त हो सके।

महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डा मिथिलेश चतुर्वेदी ने सभी सीएमओ को पत्र भेजा है। पत्र में कहा गया कि टेलीमेडिसिन ई संजीवनी एप के माध्यम से ओपीडी की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जनपद स्तरीय चिकित्सालय, सामुदायिक केंद्र व शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर तैनात ऐसे चिकित्सकों को नामित किया जाएगा, जो समय प्रदान कर सके तथा उनके पास कंप्यूटर की सुविधा हो। मरीज व तीमारदार स्मार्टफोन से इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। पत्र में कहा कि जिन लोगों के पास स्मार्टफोन नहीं है, उनके लिए उपकेंद्र स्तरीय हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर पर कार्यरत कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर व एएनएम के द्वारा टेबलेट का उपयोग कर ई.संजीवनी की सुविधा प्रदान की जाएगी।

सीएमओ डा रमेश चन्द्र का कहना है कि कोविड संक्रमण के कारण जरूरतमंद लोग व मरीज अस्पताल जाने से कतरा रहे हैं। ऐसे में सरकार द्वारा तैयार किए गए ई.संजीवनी एप्लीकेशन के जरिए ओपीडी सेवा प्रदान करने का फैसला लिया गया है। इस एप के माध्यम से मरीज चिकित्सकों से परामर्श ले सकते है।

ऐसे काम करेगा संजीवनी ओपीडी एपडीसीपीएम सुरेन्द्र कुमार ने बताया इस एप को प्ले स्टोर के माध्यम से मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं। इसे डाउनलोड करने के बाद जैसे ही खोलेंगे तो तीन ऑप्शन दिखायी देंगे। इसमें पहला ऑप्शन पेशेंट रजिस्ट्रेशन, जेनेरेट टोकन, इसके बाद दूसरा ऑप्शन पेशेंट लॉग इन और तीसरा ऑप्शन व्यू प्रिसक्रिप्शन दिखेगा। आपको सबसे पहले टोकन जेनेरेट करना होगा। इसमें आप अपना मोबाइल नम्बर डालेंगे तो वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आएगा। इसे डालते ही एक फॉर्म का प्रारूप खुल जायेगा जिसमें आपको अपना पूरा विवरण भरना होगा। इसके बाद आपके सामने जनरल ओपीडी और स्पेशलाईज्ड ओपीडी का ऑप्शन आएगा। अपनी जरूरत के अनुसार ऑप्शन का चुनाव करेंगे तो आपकी आईडी जेनेरेट हो जाएगी।



Advertisement