विकास दुबे की पोस्टमोर्टम रिपोर्ट में खुले कई महत्वपूर्ण राज

लखनऊ- ( Vikas Dubey) विकास के तीन गोलियां हुई थीं आरपार, शरीर में 10 जख्म। पहली गोली दाहिने कंधे और अन्य दो गोलियां बाएं सीने में लगी थीं। दाहिने हिस्से में सिर, कोहनी, पसली और पेट में आईं चोटें। विकास दुबे की ( Post mortem report) पोस्टमार्टम रिपोर्ट से बड़ा खुलासा हुआ है। विकास के तीन गोलियां आरपार हुई थीं। शरीर में कुल दस जख्म मिले हैं। छह जख्म (इंट्री-एग्जिट) गोलियों के हैं। जबकि अन्य चार जख्म शरीर के दाहिने हिस्से में चार जख्म भी थे।

ये जख्म गोलियां लगने के बाद गिरने से हुए। फोरेंसिक एक्सपर्ट के मुताबिक ( Post mortem report) पोस्टमार्टम रिपोर्ट दस इंजरी का जिक्र हैं। इसमें छह इंजरी गोलियों की हैं। यानी तीन गोलियां आरपार (इंट्री-एग्जिट) हुई हैं। एक गोली दोहिने कंधे व अन्य गोलियां बाएं सीने पर लगी थीं। इसके अलावा दाहिने हिस्से में सिर, कोहनी, पसली और पेट में चोटें हैं। फोरेंसिक एक्सपर्ट के मुताबिक पहली गोली विकास के कंधे पर लगी। अन्य दो गोलियां सीने पर लगीं।

उसके सिर पर हल्का सा जख्म व सूजन भी थी। कोहनी फट गई है। वहीं पेट और पसली में भी थोड़ा गहरा जख्म व सूजन आई। एसटीएफ ने एनकाउंटर में दावा किया था कि विकास ने उन पर गोली चलाई तब उन्होंने जवाबी कार्रवाई की। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ब्लैकनिंग का जिक्र नहीं है। इससे ये साफ नहीं हो सका है कि गोली कितनी दूरी से चलाई गई।



Advertisement