पांच अगस्त से पहले बड़े हमले की साजिश रच सकता है पाकिस्तान -डीजीपी कश्मीर

सुरक्षा एजेंसियों ने सीमा  LOC व घाटी पर तैनात सुरक्षाबलों को सतर्क रहने का निर्देश दिया है।  सुरक्षा एजेंसियों को मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आकाओं द्वारा पांच अगस्त से पहले घाटी को दहलाने की साजिश रची जा सकती है और साथ ही पाकिस्तान के इशारों पर और भी कई आतंकी वारदातों को अंजाम दिया जा सकता है जिसमे खासकर नेताओं और पंचायत प्रतिनिधियों को निशाना बनाया जा सकता है और कश्मीरी व अन्य बाहरियों को धमकाया जा सकता हैं।   सूत्रों के अनुसार आतंकियों के द्वारा पुलिसकर्मियों को भी अगवा कर के नौकरी छोड़ने के लिए धमकाया का सकता है साथ ही सुरक्षा केंद्रों और सुरक्षाबलों पर भी आतंकी हमले हो सकते हैं। सुरक्षा सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान ये सब इसलिए कर रहा है की वो दुनिया को जाहिर कर सके की कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद भी कुछ नहीं बदला है. बताते चले की कश्मीर का सबसे संवेदनशील इलाका उत्तरी कश्मीर है।  जब से आतंकियों द्वारा कश्मीरी पंडित अजय पंडिता की हत्या हुई है उसके बाद से कश्मीरी पंडितों के साथ साथ पंचायत प्रतिनिधियों में भी खौफ है और वे लगातार सरकारी  सुरक्षा की मांग कर रहे हैं. डीजीपी  दिलबाग का कहना  घाटी में तैनात सुरक्षाबल किसी भी परेशानियों का सामना कर सकते है घाटी में किसी भी प्रकार से शांतिभंग या माहौल को ख़राब नहीं होने दिया जायेगा। पांच अगस्त अमरनाथ यात्रा तक सुरक्षाबालों द्वारा विशेष सतर्कता बरती जाएगी। 

Advertisement