महिला अधिकारी ने लगाया मुख्यमंत्री पर ऐसा आरोप, पूरी तरह फंस चुके है CM, पढ़े विस्तार से:

यह घटना मणिपुर की है जहां पर एक महिला अधिकारी ने वही के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह पर ऐसा आरोप लगााा है। राज्य की महिला पुलिस अधिकारी ने मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह और भाजपा के वरिष्ठ नेता पर ड्रग से संबंधित माफिया पर दबाव बनाने का आरोप लगाया है। महिला अधिकारी थुनाओजम बृंदा राज्य की सीमा ब्यूरो की नारकोटिक्स और मामलों की वरिष्ठ अधिकारी हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अधिकारी का आरोप है कि सीएम बीरेन सिंह और भाजपा नेता जून 2018 में हुई ड्रग छापेमारी में पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ मुकदमा वापस लेने का दबाव बना रहे हैं। अधिकारी ब्रिंदा ने यह आरोप 13 जुलाई को इम्फाल हाईकोर्ट को दिए एक हलफनामे में लगाए।

हलफनामे के अनुसार, पुलिस ने जून 2018 को हुई ड्रग छापेमारी में लगभग 28 करोड़ रुपये की दवाओं को गिरफ्तार किया था। इस मामले में मुख्य आरोपी लुखोसी जू को ड्रग माफियाओं का राजा माना जाता है। जाता है। बृंदा ने आरोप लगाया कि वह राज्य में स्थानीय भाजपा नेता हैं। यह बताया गया है कि पुलिस ने जून 2018 को हुए ड्रग छापे में लगभग 28 करोड़ रुपये की ड्रग्स बरामद की थी। मामले में मुख्य आरोपी लुखोसी जू को ड्रग माफियाओं का मास्टरमाइंड माना जाता है। सीमा ब्यूरो के नारकोटिक्स और मामलों के वरिष्ठ अधिकारी ने आरोप लगाया है कि वह राज्य में स्थानीय भाजपा नेता हैं।

ब्रिंडा की अदालत में दिए गए हलफनामे में कहा गया है कि उनके नेतृत्व में NAB टीम ने 19-20 जून 2018 को इंफाल में ड्रग माफियाओं के खिलाफ छापा मारा। इस मामले में, ड्रग और अवैध नकदी रखने के आरोप में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया था। आरोप है कि ये सभी मामले आईपीसी और नारकोटिक ड्रग्स एक्ट, 1985 के तहत दर्ज किए गए थे। पुलिस के मुताबिक, इस छापे में 4595 किलोग्राम हेरोइन पकड़ी गई थी। वहीं, विश्व नामक दवा की 2.8 लाख गोलियां भी आप की बरामद हुईं। इस छापे में कुल मिलाकर 28 करोड़ 36 लाख 68 हजार की ड्रग्स पकड़ी गई।

पुलिस अधिकारी के इन आरोपों पर सीएम बीरेन सिंह का कहना है कि मामला अभी अदालत में है। इसलिए इस पर कोई टिप्पणी करना कानूनी रूप से सही नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी जानते हैं कि कोई भी कभी भी न्यायिक प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं कर सकता है। कानून खुद अपना काम करता है और आखिरकार न्याय होता है। सीएम का कहना है कि हमारी सरकार ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई जारी रखेगी। इसमें कोई भी पार्टी - चाहे वह दोस्त हो या करीबी दोस्त, उसे छोड़ा नहीं जाएगा।


Advertisement