कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे के समर्थन में सोशल मीडिया पर लिखने वाले शख्स पर भी FIR दर्ज:

कानपुर में हुए घटना के बाद जिसमें 8 पुलिसकर्मिय शहीद हो गए तथा 7 पुलिसकर्मी को घायल बताया जा रहा है। आपको बता दें कि इस घटना को अंजाम देने वाला बदमाश विकास दुबे और फरार हो चुका है तो तब पुलिस गिरफ्त में नहीं आ रहा है। पुलिस ने विकास दुबे को पकड़ने की इनाम को बढ़ाकर एक लाख कर दिया है। तथा विकास दुबे को पकड़ने के लिए पुलिस जगह-जगह छापामारी कर रही है।
सोशल मीडिया में कई लोग विकास दुबे के जरिए वारदात को अंजाम देने के बाद उसे को ही सही ठहरा रहे हैं. विकास दुबे के समर्थन में सोशल मीडिया पर कई लोग पोस्ट कर रहे हैं। हालांकि अब विकास दुबे के जरिए की गई पुलिसकर्मियों की हत्याओं को सोशल मीडिया पर सही ठहराने वालों पर केस दर्ज हुआ है।
विकास दुबे के जरिए की गई हत्याओं को सोशल मीडिया पर सही बताने वाले लोगों के खिलाफ कानपुर के फजलगंज थाने में एफआईआर दर्ज की गई हैं। फेसबुक पर विकास दुबे के पक्ष में और पुलिसकर्मियों की हत्या को सही ठहराने वालों पर केस दर्ज किया गया है।
थाने में लगे हिस्ट्रीशीटर बोर्ड पर चारों भाइयों के नाम लिखे हुए हैं। कानपुर में इस मुठभेड़ के बाद विकास दुबे उत्तर प्रदेश पुलिस का मोस्ट वॉन्टेड बन गया है. विकास ने यह खूनी साजिश राहुल नामक एक शख्स की उस एफआईआर के बाद रची, जो हाल ही में चौबेपुर थाने में दर्ज कराई गई थी।
चौबेपुर थाने में विकास दुबे के खिलाफ 60 केस दर्ज हैं. सबसे अहम बात ये है कि विकास दुबे अपने घर में अकेला हिस्ट्रीशीटर नहीं है, बल्कि उसके तीन भाई अतुल दुबे, दीपू दुबे और संजय दुबे भी इसी थाने में हिस्ट्रीशीटर के तौर पर दर्ज हैं।

Advertisement