Good News: कोरोना के चलते गेट पर ही समस्या सुनेंगे अधिकारी, जल्द किया जाएगा समाधान

मेरठ। मेरठ के अनलाक होने के बाद एमडीए में शिकायतों का अंबार लगना शुरू हो गया है। लोग शिकायतें लेकर तो आते हैं लेकिन उनको मुख्य गेट के भीतर ही नहीं जाने दिया जाता। शिकायतें लिखित में एक डब्बे में पीडितों द्वारा डाली जा रही है। लेकिन उन शिकायतों पर कोई समाधान नहीं हो रहा है। लोगों की बढ़ी समस्याओं का देखते हुए अब एमडीए वीसी राजेश कुमार शर्मा ने एक नई शुरूआत की है। इसके तहत अब एमडीए गेट पर एक अधिकारी की दिन में तैनाती की गई है। डे अधिकारी के रूप में इन अधिकारी की डयूटी प्रतिदिन लगाई जाएगी। ये डे अधिकारी एमडीए में आने वालों की शिकायत सुनकर उनकी समस्याओं का समाधान करेंगे। एमडीए गेट के पास ही कोविड-19 केबिन बनाया गया है। इसमें तमाम फाइलें सैनिटाइज होंगी और संबंधित अफसर के पास जाएंगी।

यह भी पढ़ें: सपा सांसद के बयान पर बोले भाजपा विधायक संगीत सोम, 'यह उनकी खाला की सरकार नहीं है'

एमडीए कार्यालय के मेन गेट पर कोविड-19 लाइन बनाई गई है। जहां पर तापमान चेक करने के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। वहीं बिल्डिंग में अत्याधुनिक तकनीक वाला कैमरा, पल्स रेट मॉनिटर, सैनिटाइजर की व्यवस्था भी की गई है। कर्मचारी की भी तैनाती की गई है। इसके अलावा फाइल सैनिटाइजेशन के लिए भी एमडीए उपाध्यक्ष, सचिव, मुख्य अभियंता, वित्त नियंत्रक व डाक विभाग में अल्ट्रावायलेट किरण वाली मशीनें लगाई गई हैं। इनमें से फाइल रखकर भेजी जाती है ताकि बैक्टीरिया खत्म हो जाएं।

यह भी पढ़ें: प्रधान के चुनाव को लेकर प्रत्याशी ने बांटा जहर का जाम, दो की मौत, कई की हालत गंभीर

प्रवेश द्वार पर ही शिकायतकर्ताओं की समस्या का निराकरण किया जाएगा। इसके लिए विशेष केबिन बनाए गए हैं। डे अफसर तैनात किया जा रहा है। यह समस्या सुनेंगे और संबंधित अफसर को वाकिफ कर आएंगे। समस्या निपटारे के लिए भी समय सीमा निश्चित की गई है। बाहर से आने वाली डाक भी सैनिटाइज होकर टेबल तक पहुंचेगी। इसके लिए अल्ट्रावायलेट किरण वाली मशीन भी लगाई गई है।



Advertisement