आज 1 अगस्त 2020, जुलाई 2020, विक्रम संवत 2077 श्रावण मास की त्रयोदशी तिथि का पंचांग, राशिफल पर विशेष

उन्नाव. आज दिनांक 01 अगस्त 2020, विक्रम संवत 2077, शक संवत 1942, सावन मास त्रयोदशी तिथि के दिन का पंचांग व राशि के विषय में वरिष्ठ ज्योतिषाचार्य पंडित शंकर दयाल त्रिवेदी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आज पूर्व दिशा दिशाशूल है।

आज के दिन की जानकारी

आज का पंचांग : 01 अगस्त 2020

विक्रम संवत : 2077

शक संवत :1942

संवत्सर नाम :प्रमादी

वार : शनिवार

ऋतु : बर्षा

माह : श्रावण

पक्ष : शुक्ल

तिथि : तृयौदशी रात्रि 09:55

नक्षत्र : मूल प्रातः 06:48

योग : वैधृति प्रातः 09:23

करण : कौलव प्रातः 10:16

चंद्रमा : धनु (दिन-रात )

सूर्योदय : प्रातः 05:28

सूर्यास्त : सायं 06:43

दिशाशूल : पूर्व

निवारण उपाय : अदरख का सेवन कर घर से निकले

राहु काल : प्रातः 09:00 से 10:30

गुलिक काल : प्रातः 06:00 से 07:30

यम गण्ड काल : दोपहर 01:30 से 03:00

राशिफल वाले क्या करें कि उनका दिन अच्छा हो

मेष राशि : पांच कन्याओं को खीर पूडी खिलाऐं आपके सारे संकट दूर हो जायेंगे

बृष : आपकी कन्या का विवाह न हो रहा हो तो आज किसी ब्राह्मण को दही जलेबी खिलाए जल्द विवाह हो जायेगा

मिथुन : गणेश जी को मोदक का भोग लगाने से बच्चे का मन पढाई में लगेगा

कर्क : चांदनी रात में चांद को खीर अर्पण करें आपकी संतान जल्द होगी

सिंह : सूर्य को जल का अर्ध्य दें और गुड के गुलगुले का भोग लगाए संतान को शीध्र नौकरी मिलेगी

कन्या : सवा किलो खडा मूंग ,सवा किलो गुड और सवा मीटर हरे रंग का कपडे का टुकड़ा किसी ब्राह्मण को दान करने से व्यापार अच्छा चलने लगेगा

तुला: पांच सफेद वस्त्र किसी कन्या को दान करें गृह में शीध्र ही मांगलिक कार्य होंगे

वृश्चिक राशि : सवा मीटर लाल कपडा, सवा किलो मिठाई हनुमानजी के मंदिर में चढ़ाएं, शत्रुओं का शमन होगा

धनु : चने दाल की पूड़ी और कद्दू की सब्जी किसी ब्राह्मण को खिलाने से गृह में धन की बरकत होगी, भोजन के उपरांत ब्राह्मण देवता के चरण स्पर्श करके आशीष प्राप्त करें तथा बाद में उन्हें दक्षिणा अवश्य दें

मकर : शनिवार के सांयकाल कडुवा तेल की पूड़ी, कुछ नमकीन और रसेदार सब्जी किसी गरीब परिवार में जाकर दें इससे आपके सारे क्लेश दूर हो जायेंगे

कुम्भ: आज सांयकाल शनिदेव को कडुवा तेल चढाऐं, मामले मुकदमे में आपको विजय मिलेगी

मीन : आज बंदरों को केला खिलाए और भुने हुए चने दें आपपर बृहस्पति देव की विशेष कृपा होगी। जिनका विवाह न हो रहा हो अथवा अड़चने आ रही है वे लोग इसे अवश्य करें, शीध्र लाभ होगा।

यह जानकारी उपरोक्त जानकारी वरिष्ठ ज्योतिषाचार्य पंडित शंकर दयाल त्रिवेदी ने दी।

 



Advertisement