सीएम योगी ने जनता को समर्पित किया सबसे अत्याधुनिक कोविड-19 अस्पताल, जानिये क्या है खासियत

नोएडा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को नोएडा के सेक्टर-39 में बने 420 बेड वाले कोविड-19 अस्पताल का उद्घाटन कर जनता को समर्पित कर दिया है। यह गौतमबुद्ध नगर जिले का सबसे बड़ा कोविड-19 अस्पताल है। इस अस्पताल का विकास टाटा फाउंडेशन की मदद से किया गया है। जानकारी के अनुसार फिलहाल अस्पताल में 250 बिस्तरों की अत्याधुनिक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध रहेंगी। आगे चलकर इसे विस्तारित कर इसकी क्षमता 420 बेड तक बढ़ाई जाएगी।

दरअसल, शुक्रवार की शाम 6:00 बजे सीएम योगी ग्रेटर नोएडा पहुंच थे। यहां रात में विश्राम करने के बाद शनिवार की सुबह उन्होंने । उद्घाटन के बाद मुख्यमंत्री ने अस्पताल के डॉक्टरों से बात कर यहां की सुविधाओं और व्यवस्थाओं के विषय में जानकारी ली। साथ ही इस नवनिर्मित अस्पताल के सभी वार्डों में घूम-घूमकर बारीकी से एक-एक चीज का जायजा लिया। इस दौरान जिलाधिकारी सुहास एल.वाई., नोएडा पुलिस कमिश्नर, स्थानीय सांसद महेश शर्मा और और जिले के विधायक और अधिकारी मौजूद रहे।

प्रदेश में सबसे अत्याधुनिक जिला अस्पताल

गौतमबुद्ध नगर के जिला सूचना अधिकारी राकेश कुमार चौहान ने जानकारी देते हुए बताया कि नोएडा प्राधिकरण ने 344 करोड रुपये की लागत से नए जिला अस्पताल का निर्माण करवाया है। इसमें अभी 250 बेड की सेवाएं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकार्पित कर दी हैं। अस्पताल में तीन आईसीयू हैं। तीनों आईसीयू में 17 बेड उपलब्ध हैं। अभी पूरे अस्पताल में 250 बिस्तर पर उपचार की सुविधाएं मिलेंगी। जल्दी ही इसका विस्तार किया जाएगा और 400 बिस्तर जन सामान्य को उपलब्ध करवाए जाएंगे। अस्पताल में 10 वेंटिलेटर हैं। दो मोबाइल वेंटिलेटर भी उपलब्ध हैं। यहप्रदेश में सबसे अत्याधुनिक जिला अस्पतालप्रदेश में सबसे अत्याधुनिक जिला अस्पताल बनाया गया है। इस अस्पताल के विकास में टाटा फाउंडेशन ने सहयोग किया है। इसके अलावा द्वितीय तल पर डायलिसिस यूनिट व सिटी स्कैन की व्यवस्था की गई है।

बॉर्डर किए गए सील

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी के नोएडा आगमन के मद्देनजर पुलिस की ओर से पूरे जिले सुरक्षा कड़ी कर दी गई। यहां शुक्रवार से दो दिनों के लिए गौतमबुद्ध नगर में किसी भी प्रकार के ड्रोन कैमरों के संचालन पर रोक लगा दी गई। कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर गौतमबुद्ध नगर में पहले से ही धारा 144 लागू है। साथ ही दिल्ली से लगे गौतमबुद्ध नगर जिले के सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। नोएडा पुलिस किसी को बॉर्डर पार नहीं करने दे रही है। इसके कारण बॉर्डर पर वाहनों का लंबा जाम भी लगा। पुलिस उपायुक्त (कानून-व्यवस्था) आशुतोष द्विवेदी ने एक आदेश में कहा कि मुख्यमंत्री के जिले के दौरे और धारा 144 के तहत शक्तियों का उपयोग करते हुए मैं आदेश देता हूं कि 7 और 8 अगस्त को गौतमबुद्ध नगर में ड्रोन कैमरों के संचालन पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। उन्होंने कहा कि आदेश का उल्लंघन आईपीसी की धारा 188 (एक सरकारी अधिकारी द्वारा विधिवत आदेश की अवज्ञा) के तहत दंडनीय अपराध होगा।

यह होगी व्यवस्था

• तीन आइसीयू
• 28 बिस्तर
• एक इमरजेंसी
• 9 बिस्तर
• 2 वार्ड
• 65-65 बिस्तर
• डायलिसिस यूनिट
• सिटी स्कैन
• लैब



Advertisement