आजमगढ़ कांड पर सीएम सख्त, पीड़ितों को 5-5 लाख मुआवजे का ऐलान, आरोपियों के खिलाफ गैंगेस्टर और एनएसए लगेगा

आजमगढ़. यूपी के आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र बांसगांव में प्रधान की हत्या (Azamgarh Pradhan Murde) और उसके बाद हुए उपद्रव को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान में लिया है। सीएम ने मृतकों के परिजनों को अनुसूचित जाति, जनजाति एक्ट के तहत दी जाने वाली सहायता राशि के अलावा मुख्यमंत्री सहायता कोष से पांच-पांच लाख रुपये की अतिरिक्त धनराशि (CM Announce compensation) दिए जाने की घोषणा की है। साथ ही उन्होंने थानाध्यक्ष और चैकी इंचार्ज को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के भी निर्देश दिए हैं। यहीं नहीं हत्यारोपियों और उपद्रवियों के खिलाफ उन्होंने एनएसए और गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई (Impose NSA and Gangster) करते हुए संपत्ति जब्त करने व एनएसए लगाने के भी निर्देश दिये है। अधिकारियों ने सीएम के निर्देश पर अमल शुरू कर दिया है।

 

बता दें कि तरवां थाना क्षेत्र के बांसगांव के प्रधान सत्यमेव जयते उर्फ पप्पू 42 पुत्र रामसुख राम को शुक्रवार की शाम कुछ लोगों ने गांव के श्रीकृष्ण पीजी कालेज के पीछे स्थित पोखरे पर बुलाया और गोली मारकर हत्या कर दी। इससे लोगों का आक्रोश भड़क गया था और उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया था। इसी दौरान एक वाहन की चपेट में आने से 12 वर्षीय किशोर की मौत हो गयी थी। स्थानीय लोगों ने मौत पुलिस के वाहन से कुचलकर होने का आरोप लगाते हुए रासेपुर बोंगरिया चैकी और वहां खड़े कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया था।

इसे भी पढ़ें

आजमगढ़ में प्रधान की हत्या के बाद बवाल, ग्रामीणों ने पुलिस चौकी सहित कई वाहन में लगायी आग, चौकी इंचार्ज निलंबित

इस दौरान पुलिस और पब्लिक में घंटो गुरिल्ला युद्ध हुआ। पथराव से बचने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी थी। आलाधिकारियों के कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचने के बाद किसी तरह हालात पर काबू पाया गया था। पुलिस अधीक्षक ने रासेपुर चैकी इंचार्ज को रात में ही निलंबित कर दिया था।

 

इस मामले को सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी संज्ञान लिया है। उन्होंने मृतकों के परिजनों को अनुसूचित जाति, जनजाति एक्ट के तहत दी जाने वाली सहायता राशि के अलावा मुख्यमंत्री सहायता कोष से पांच-पांच लाख रुपये की अतिरिक्त धनराशि दिए जाने की घोषणा की है। साथ ही उन्होंने थानाध्यक्ष को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने व हत्यारोपियों और उपद्रवियों के खिलाफ उन्होंने गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए संपत्ति जब्त करने एंव एनएसए लगाने के भी निर्देश दिये है। अधिकारियों ने सीएम के निर्देश पर अमल शुरू कर दिया है। एसपी, डीएम, आयुक्त सहित आलाधिकारी मौके पर डटे हुए है। मौके पर कई थानों की फोर्स व पीएसी के जवान तैनात किए गए है। पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह का कहना है कि स्थिति नियंत्रण में है। आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

By Ran Vijay Singh



Advertisement