डाॅ. अयूब पर रासुका लगने पर पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने जारी किया बयान, BJP पर लगाए गंभीर आरोप

मेरठ. पीस पार्टी अध्यक्ष डॉ. अयूब पर रासुका लगाए जाने से पार्टी कार्यकर्ताओं में असंतोष है। कार्यकर्ताओं ने कहा है कि वे डरने वालों में से नहीं हैं। पीस पार्टी राष्ट्रीय प्रवक्ता शादाब चौहान ने पार्टी की ओर से मेरठ में एक आधिकारिक बयान जारी किया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि पीस पार्टी संवैधानिक संघर्ष करने लिए तैयार है। भाजपा सरकार लोकतंत्र का गला घोटना चाहती है, जो भी निर्दोष, कमजोर और निचले तबके की आवाज उठा रहा है उसे सरकार साजिश के तहत जेल में डाल रही है। इतना ही नहीं उस पर झूठे मुकदमों का पुलिंदा भी लगा रही है। शादाब चौहान ने कहा कि डाॅ. अयूब पर कार्यवाही सरकार ने दुर्भावनावश की है। डाॅ. अयूब लंबे समय से सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध कर रहे थे। वे जनता को जागरूक कर रहे थे। इसको लेकर सरकार बौखला गई। डाॅ. अयूब की लोकप्रियता लगातार प्रदेश में बढ़ती जा रही थी।

यह भी पढ़ें- कोविड-19 फंड के नाम पर मिस्टर क्लीन ने किया करोड़ों का खेल: इमरान मसूद

मानवता, शांति का संदेश देती रही है पीस पार्टी

शादाब ने कहा कि पीस पार्टी हमेशामानवता, न्याय और शांति का संदेश देती रही है। यह भाजपा और उसकी सरकार को बर्दाश्त नहीं हुआ। डाॅ. अयूब का यह मिशन भी है। सरकार विपक्ष की आवाज को दबाकर लोकतंत्र का गला घोटना चाहती है, जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठा रहा है। चाहे वो रामपुर के नवाब हों या डाॅ. अयूब हों।

लोकतंत्र की रक्षा के लिए कार्यकर्ता कुछ भी सहेंगे

पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि देश में लोकतंत्र की रक्षा के लिए मानवता के लिए कुछ भी सहने को तैयार हैं। हम डरने वाले नहीं है। सरकार कितना भी विपक्ष की आवाज को दबाने का प्रयत्न कर ले, लेकिन विपक्ष की आवाज मजबूती के साथ बुलंद होगी। उन्होंने कहा कि हम मजबूती से उभरे हैं। डाॅ.अयूब पर रासुका लगाकर सरकार ने पीस पार्टी के जमीर को ललकारा है।

ऑपरेशन थियेटर से उठाकर गिरफ्तार करने का आरोप

पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ. अयूब को सरकार ने उस समय गिरफ्तार किया, जिस समय वे ऑपरेशन थियेटर में एक मरीज का ऑपरेशन कर रहे थे। सरकार ये याद रख ले कि 2022 में जनता इसका जवाब जरूर देगी। पीस पार्टी पर पोस्टर छापने का जो आरोप लगाया है। वह सरासर गलत है। हमने कोई पोस्टर नहीं बांटे हैं। उस पोस्टर में केाई भी चीज असंवैधानिक नहीं है। उन्होंने कहा कि पीस पार्टी सरकार द्रोही है। देशद्रोही नहीं है।

यह भी पढ़ें- रैपिड रेल प्रोजेक्ट की मशीन जमीन के 150 मीटर नीचे खोजेगी रूपक का शव, मशीन लाने के लिए बनाई जा रही पक्की सड़क



Advertisement