मिड डे मील में कीड़े निकलने के पांच दिन बाद स्कूल पहुंचे विधायक, अधिकारियों के छूटे पसीने

मुजफ्फरनगर। जनपद में गत 5 अगस्त को थाना पुरकाजी क्षेत्र के गांव भोजा हेड़ी में उच्च माध्यमिक प्राथमिक विद्यालय में बच्चों को सड़ा हुआ व कीड़ों युक्त खाद्यान्न वितरण करने के मामले में जिला प्रशासन की नींद 5 दिन बाद खुली है। जिसके चलते सोमवार को पुरकाजी क्षेत्र के विधायक प्रमोद ऊंटवाल एसडीएम सदर दीपक कुमार सप्लाई इंस्पेक्टर व अन्य अधिकारियों के साथ उच्च प्राथमिक विद्यालय भोजा हेड़ी में पहुंचे। जहां उन्होंने बच्चों को कीड़ों युक्त व सड़ा हुआ खाद्यान्न वितरण करने के मामले में छानबीन की।

यह भी पढ़ें: मॉर्निग वॉक पर निकले भाजपा नेता की गाेली मारकर हत्या, सीएम ने मांगी रिपाेर्ट

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लॉकडाउन के दौरान सभी विद्यालय बंद होने के बावजूद भी बच्चों को खाद्यान्न वितरण करने के आदेश दिए थे। जिसके चलते प्रदेश में सभी जनपदों में बच्चों को खाद्यान्न वितरण करने का काम शुरू किया गया था। मगर जनपद मुजफ्फरनगर में थाना पुरकाजी क्षेत्र के गांव भोजा हेड़ी में उच्च प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक व राशन डीलर की लापरवाही से बच्चों को सड़ा हुआ वह कीड़ों युक्त खाद्यान्न वितरण कर दिया गया। जिसके बाद बच्चों के घर पहुंचने पर जब उनके परिजनों ने खाद्यान्न देखा तो वे हंगामा करते हुए विद्यालय पहुंच गए।

यह भी पढ़ें: गंग नहर में कूदकर आत्महत्या करने जा रहे युवक की पुलिस ने दाैड़कर बचाई जान

हंगामा खड़ा होता देख विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने सड़ा हुआ खाद्यान्न का वितरण बंद कर दिया। मामला मीडिया में आने के बाद घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों तक पहुंची। जिसके बाद मामले की जांच करने की बात कही गई थी। मगर घटना को 5 दिन होने के बाद आज प्रशासन की नींद टूटी। जिसके चलते एसडीएम सदर दीपक कुमार वह सप्लाई इंस्पेक्टर के साथ-साथ अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। इसके साथ ही पुरकाजी से भाजपा विधायक प्रमोद ऊंटवाल भी अधिकारियों के साथ गांव भोजा हेड़ी पहुंचे।



Advertisement