गोरखनाथ मंदिर में मनी श्रीकृष्ण जनमाष्टमी, गोरक्ष पीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने की जनमाष्टमी पूजा

गोरखपुर. परंपरा का निर्वाह करते हुए गोरखनाथ मंदिर में गोरक्षपीठाधीश्वर की मौजूदगी में कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर पहुुंचकर जनमाष्टमी की पूजा की। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया और अयोजन में सीमित लोग ही शामिल हुए। मुख्यमंत्री योगी ने बाल कृष्ण को झूला झुलाया और पूरा परिसर सोहर गीतों की गूंज से गुंजायमान रहा। सीएम योगी ने गोरक्षपीठाधीश्वर के तौर पर श्रीनाथ जी के मंदिर के गर्भगत्रह में जनमाष्टमी की परंपरागत पूजा की और मध्य रात्रि को भगवान श्रीकृष्ण का प्रतीकात्मक जन्म कराकर पूरे विधि-विधान से उनकी पूजा-अर्चना और आरती की।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में मंगलवार को गोरखनाथ मंदिर में जनमाष्टमी का पर्व श्रद्घा, भक्ति और उल्लस के साथ मनाया गया। गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ नंद गोपाल को अपनी गोद में उठाए हुए गर्भगृह का फाटक खोलकर बाहर आए और पालने में बिठाकर बड़े ही श्रद्घा भाव से बाल गोपाल को झूला झुलाया। गोरखनाथ मंदिर में श्रीकत्रष्ण जन्मोत्सव की पूजा 11.30 बजे से शुरू हो गई। रात आठ बजे से ही मंदिर के प्रार्थना कक्ष में भजन गीतों की प्रस्तुति शुरू हो चुकी थी। मंदिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ, मुख्य पुरोहित आचार्य रामानुज त्रिपाठी वैदिक वेदपाठी शिष्यों और पुरोहितों के साथ पूजन की प्रक्रिया पूरी कराई। मंदिर में धनिया शक्कर और मेवे से बना प्रसाद बांटा गया।

 

इसके पहले सोमवार को ही यहां अखण्ड संकीर्तन शुरू हो गया था, जो मंगलवार को सम्पन्न हुआ। लोक गायक राकेश श्रीवास्तव व उनकी टीम ने भजन और सोहर प्रस्तुत किया तो उमेश मिश्रा ने गणपति वंदना की। अजय शर्मा और राकेश श्रीवास्तव ने अपने भजन और सोहन से श्रद्घा के रंग को और गाढ़ा किया।



Advertisement