सिपाही को थप्पड़ जड़ने वाले भाजपा नेता के भाई को पुलिसकर्मियों ने जमीन पर गिरा-गिराकर पीटा

मेरठ. सत्ता की हनक भाजपाइयों के सिर चढ़कर बोलने लगी है। जिले में आए दिन ऐसी घटनाएं सामने आ रही हैं, जिसमें पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से भाजपाइयों की भिड़ंत हो रही है। आज भी एक सिपाही को भाजपा नेता के भाई को चेकिंग के लिए रोकना भारी पड़ गया। सिपाही के रोके जाने के बावजूद भाजपा नेता के भाई ने तेज स्पीड से वाहन को निकालने का प्रयास किया तो सिपाही भाजपा नेता के भाई के आगे खड़ा हो गया। इस पर दोनों में कहासुनी हो गई। भाजपा नेता के भाई ने आव देखा न ताव सीधे सिपाही के गाल पर एक थप्पड़ जड़ दिया। युवक का दुस्साहस देख चेकिंग कर रहे अन्य पुलिसकर्मी भी आ गए। उन्होंने युवक को जमीन में गिरा-गिराकर जमकर पीटा। जब युवक ने अपना परिचय दिया तो सब पीछे हट गए।

यह भी पढ़ें- यूपी: उधार दी रकम वापस मांगी ताे कर दिया बेरहमी से कत्ल

दरअसल, यह घटना जिले के इंचौली थाना क्षेत्र में के मसूरी गांव तिराहे के पास की है। जहां थाना पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान पुलिस ने एक युवक को रोकने का प्रयास किया तो वह बिना रुके निकल गया। इसके बाद सिपाही युवक की गाड़ी के आगे आ गया। पुलिस ने उसे पकड़ लिया। आरोप है कि युवक ने पहले पुलिसकर्मियों के साथ बहस की और फिर एक सिपाही को थप्पड़ मार दिया।

सूचना पर इंचौली थाने के इंस्पेक्टर बृजेश सिंह भी मौके पर पहुंच गए। इंस्पेक्टर के सामने ही भाजपा नेता के भाई ने सिपाही को थप्पड़ मारा। इसके बाद पुलिस ने युवक की जमकर पिटाई की। उधर, सिपाही ने खुद इस मामले की जानकारी एसएसपी को दी है। इंचौली थाने में लोगों का हंगामा चल रहा है। पुलिस लोगों को समझाने का प्रयास कर रही है, लेकिन वो मानने को तैयार नहीं है। इस मामले में इंस्पेक्टर बृजेश सिंह का कहना है कि अभी दोनों से पूछताछ की जा रही है।
उधर, सीओ सदर देहात ब्रिजेश सिंह भी मौके पर पहुंच गए हैं। उन्होंने मामले की जानकारी ली। उनका कहना है कि अभी दोनों से पूछताछ की जा रही है। वहीं एसओ इंचौली ने बताया कि दोनों पक्षों में आपस में कुछ गलतफहमी हो गई थी। जिसके बाद मामला सुलझा लिया गया।

यह भी पढ़ें- कुत्ते के लिए कर दिया डबल मर्डर, पुलिस ने तीन को किया गिरफ्तार, जानिए क्या है पूरा मामला



Advertisement