तमसा के जल और दुर्वासा धाम की मिट्टी का भी राम मंदिर में होगा उपयोग

आजमगढ़. भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन की तैयारियां तेज हो गयी है। आदि गंगा के नाम से प्रसिद्ध तमसा नदी का जल व दुर्वासा धाम सहित प्रमुख तीर्थ स्थलों की मिट्टी भी मंदिर निर्माण में प्रयोग की जाएगी। नदियों के जल व तीर्थ स्थलों से मिट्टी संग्रह का कार्य शुक्रवार को पूर्ण होने के बाद उसे अयोध्या भेजा गया। आजमगढ़ मंडल के विश्व हिंदू परिषद कार्यकर्ता नदियों का जल व धार्मिक स्थलों की मिट्टी लेकर कलेक्ट्रेट चैराहे पर पहुंचे जहां से विभागाध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने भगवा ध्वज दिखाकर अयोध्या के लिए रवाना किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर श्रीराम का जयघोष किया।

बता दें कि श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के क्रम में 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम हेतु विहिप के आह्वान पर देश भर के पवित्र नदियों का जल एवं तीर्थ स्थलों की पावन मिट्टी मंगवाई जा रही है। इसी कड़ी में आजमगढ़ के विभिन्न पौराणिक तीर्थ स्थल चन्द्रमा ऋषि आश्रम, दत्तात्रेय धाम, दुर्वासा धाम, भैरव बाबा, अवंतिका पूरी, प्रथमदेव बहिरादेव, भंवरनाथ धाम, पाल्हमेश्वरी देवी धाम, श्रीराम वाटिका, शीतला माता धाम एवं नदियों में सरयू, छोटी सरयू, तमसा, कयाड़, कुंवर, गागी, मंगई, मंझुई, लोनी, बेसो, सिलनी, भैंसही एवं ताल सलोना आदि का पवित्र जल कार्यकर्ताओं द्वारा संग्रह किया गया। इसके बाद कार्यकर्ता जल और मिट्टी लेकर अयोध्या के लिए रवाना हुए।

मौके पर ये लोग रहे मौजूद

इस अवसर पर विभागमंत्री संजय सिंह, लोकदायित्व संयोजक पवन जी, रामकृष्ण मिश्रा, राकेश दुबे, अनिल सेठ, दीनानाथ सिंह, राधामोहन गोयल, गौरव रघुवंशी, आनंद सिंह, वरुण पाठक, गजेंद्र सिंह, अरविंद मोदनवाल, शशांक तिवारी, आशुतोष, उत्कर्ष, विजय मौर्य, कन्हैया पांडेय, अभिजीत, अलंकार, अनिल यादव, सनी यादव, सनी निषाद, लालमन चैहान, रामविजय, शेषमणि, अमर सिंह प्रिंस, ज्ञानेंद्र सिंह, अतुल, दिलीप अस्थाना, संतोष श्रीवास्तव, हरेंद्र मौर्य, सौदागर भारती, गणेश गुप्ता, आयुष गुप्ता, संतोष गुप्ता, संदीप आदि मौजूद रहे।



Advertisement