सत्ताधारी नेताओं के हाथ की कठपुतली है जिला प्रशासन : सपा जिलाध्यक्ष

आजमगढ़. जिले में लगातार ताबड़तोड़ हत्या और लूट की घटना के बाद सपा ने योगी सरकार पर हमला किया। सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने कहाकि, जिला प्रशासन सत्ताधारी नेताओं के हाथ की कठपुतली हो गया है। जिसके कारण अपराध और अपराधी नियंत्रण के बाहर है।

निवर्तमान जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने कहा कि योगी सरकार में अपराधी भयमुक्त होकर अपराध कर रहे हैं। जाति विशेष के बड़े अपराधियों को सरकार का संरक्षण प्राप्त है। आजमगढ़ के बासगांव में दलित प्रधान सत्यमेव जयते की निर्मम हत्या व एक नौजवान सूरज प्रजापति की पुलिस की गाड़ी से मौत हो गयी। जाति विशेष के अपराधी हत्या, लूट, बलात्कार की घटना को अंजाम दे रहे हैं। जिला पुलिस भाजपा नेताओं के हाथ की कठपुतली बनकर मूकदर्शक बन गया है। थानों पर कोई भी थानाध्यक्ष हफ्ते, महीने या दो महीने तक नहीं रहने पा रहा है। भाजपा नेता जो कहते हैं पुलिस प्रशासन उनके अनुसार पोस्टिंग कर रहा है। अभी तरवां में एक हफ्ते पहले एसओ की पोस्टिंग हुई थी। उसको हटाकर जाति विशेष का थानाध्यक्ष बनाया गया। इससे साबित होता है कि पुलिस अपराधियों से मिली हुई है व अपराधियों को संरक्षण भाजपा नेता दे रहे हैं।

जाति विशेष के अधिकारियों को मिल रही है पोस्टिंग :. उन्होंने कहा कि जनपद में जाति विशेष के अधिकारियों को ही पोस्ट किया जा रहा है। थाना-देवगांव के अन्तर्गत ग्राम गुड़सना नाउपुर में पिता व पुत्र की हत्या, कप्तानगंज थाना क्षेत्र के मठगोविन्द में जनसेवा के मालिक से लूट, थाना अतरौलिया के अतरैठ में बैंक से पैसा निकालकर ले जा रहे बैंक मित्र मिथिलेश कुमार से बदमाशों द्वारा असलहा सटाकर 1,70,000 रूपये की लूट, कौड़िया में ग्रामीण बैंक के बैंकमित्र मुन्ना यादव से अपराधियों द्वारा कट्टा दिखाकर लूट, बीबीगंज में सपा के सेक्टर प्रभारी के ऊपर प्राणघातक हमला इसका प्रमाण है।

आम जनता में भय का वातावरण : - थाना तरवां अन्तर्गत कम्हरिया निवासी निजामुद्दीन के भाई की चार महिने पहले हत्या हुई पूर्व इस्पेक्टर हत्यारों के करीब पहुंच गया था। इस कारण उसका तबादला करके नये इस्पेस्क्टर को लाया गया। उक्त हत्या पुलिस की शह पर अपराधियों ने की थी। पूरे जनपद में हत्या, लूट, डकैती, बलात्कार की घटनाओं में बाढ़ आ गयी है। आम जनता में भय का वातावरण व्याप्त है। सरकार गरीबों, पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्यकों की हत्या व लूट कराकर उनमें भय व्याप्त कर आगे आने वाला चुनाव लड़ना चाहती है। समाजवादी पार्टी इन घटनाओं को लेकर जिला पुलिस के खिलाफ आन्दोलन करेगी। इस दौरान वीरेन्द्र यादव, रामप्रवेश यादव, लालसा राम, रागिनी सिंह, रिंकू यादव, सकलू, इन्द्रभूषण यादव, अशोक, सुरेश, मुलायम, प्रहलाद आदि उपस्थित थे।



Advertisement