देवरिया के कोरोना अस्पताल प्रभारी डाॅक्टर की कोरोना से मौत, बीआरडी मेडिकल काॅलेज में चल रहा था इलाज

गोरखपुर/देवरिया. यूपी के देवरिया जिले के कोविड-19 अस्पताल के प्रभारी 36 साल के डाॅ. राजीव रंजन की कोरेना संक्रमण के चलते मौत हो गई। वह बीते 19 अगस्त को कोरोना संक्रमित पाए गए थे, जिसके बाद उनकी हालत बिगड़ने पर उन्हें बीआरडी मेडिकल काॅलेज रेफर किया गया था। यहां से भी उन्हें नई दिल्ली के अस्पताल ले जाने की तैयारी थी, लेकिन उसके पहले ही इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

 

देवरिया जिले की रूद्रपुर तहसील रामचक गांव निवासी डाॅ. राजीव रंजन की तैनाती रूद्रपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर थी। कोरोना संक्रमण के विस्तार के शुरूआती दिनों में ही मार्च के महीने में उन्हें कोविड-19 प्रभारी बनाकर डिस्ट्रिक्ट हाॅस्पिटल देवरिया से अटैच कर दिया गया था। 36 साल के डाॅक्टर कोविड प्रभारी बनाए जाने के बाद अपने सहयोगियों के साथ कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में जुटे रहे। उन्होंने काफी मेहनत की।

 

बीते 19 अगस्त को डाॅ. राजीव रंजन की कोरोना जांच की गई तो उसकी रिपोर्ट पाॅजिटिव आई। उन्हें जिला मुख्ययालय के कोविड अस्पताल में भर्ती कर वहां उनका इलाज शुरू हुआ। दो दिन पहले ही उनकी हालत में सुधार न होने पर गोरखपुर स्थित बीआरडी मेडिकल काॅलेज रेफर किया गया। हालांकि यहां भी उनकी हालत में कोई खास सुधार नहीं दिखा तो परिजन उन्हें नई दिल्ली के मेदांता में ले जाने की तैयारी कर रहे थे। उन्हें दिल्ली ले जाया जाता उसके पहले ही सोमवार की भोर में इलाज के दौरान उनका निधन हो गया। उनकी मौत से स्वास्थ्य महममे में हड़कम्प मच गया।



Advertisement