बाहुबली विधायक विजय मिश्रा ने वीडियो जारी कर पुलसि पर लगाए आरोप, जतायी हत्या की आशंका

भदोही. यूपी के भदोही जिले की ज्ञानपुर विधानसभा से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा, उनकी पत्नी व बेटे के खिलाफ मुकदमा दर्ज किये जाने के बाद अब विधायक ने एक वीडियो बयान जारी कर अपनी हत्या किये जाने या जेल में डाल दिये जाने का डर जाहिर किया है। उन्होंने ब्राह्मण कार्ड खेलने की भी कोशिश की है। बताते चलें कि बाहुबली विजय मिश्रा के खिलाफ पिछले कुछ दिनों से पुलिस का शिकंजा कसना शुरू हुआ है, जिसके बाद से वह लगातार पुलिस पर अपने विरोधियों की मिली भगत से साजिश करने का आरोप लगा रहे हैं।

मुख्तार अंसारी और अतीक़ अहमद के बाद यूपी के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के ख़िलाफ़ कार्रवाई

विधायक ने जारी किया वीडियो बयान

विजय मिश्रा ने ब्राह्मण कार्ड खेलते हुए अपना बयान जारी किया है। वीडियो में यह बताने की कोशिश की है कि उन्हें केवल इसलिये फंसाया जा रहा है क्योंकि वह ब्राह्मण हैं। पिछली बार की तरह इस बार भी उन्होंने अपने वीडियो में पत्नी रामलली मिश्रा द्वारा बाहुबली पूर्व एमएलसी विनीत सिंह को हराए जाने का जिक्र किया है। उन्होंने दावा किया है कि उन्हें पत्नी और बेटे को फर्जी मुकदमे में फंसाया गया है। किसी भी समय जेल भेजे जाने और अपनी हत्या कराए जाने का अंदेशा जताया है। आरोप लगाया कि उनके साथ यह सब इसलिये हो रहा है ताकि वह आने वाले पंचायत चुनावों से दूर रहें ताकि बाहर के किसी माफिया या बाहुबली को यहां यहां से लड़ाया जा सके।

सामने आए बहुबली विधायक विजय मिश्रा, कहा पूर्व मंत्री और पुलिस मिलकर फंसा रहे हैं, न्याय नहीं मिला

पहले गुंडा एक्ट में हुई कार्रवाई

बाहुबली विजय मिश्रा के खिलाफ यूपी पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू किया तो सबसे पहले व्यावसायी गोपाल कृष्ण माहेश्वरी को कथित तौर पर टोल प्लाजा के ठेके में धमकी देने और उसका आडियो वायरल होने के बाद उनके खिलाफ गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। इतना ही नहीं भदोही पुलिस अधीक्षक ने प्रेस कांफ्रेंस कर उनके खिलाफ दर्ज 71 मुकदमों की लिस्ट भी जारी की। इसके बाद विजय मिश्रा ने पूर्व मंत्री और पुलिस की मिली भगत से आगामी पंचायत चुनावों को देखते हुए अपने खिलाफ साजिश किये जाने का आरोप लगाया था। उन्होंने मुख्यमंत्री से मिलकर इसकी शिकायत करने और बात न सुने जाने पर आत्मदाह की धमकी दी थी।

विधायक विजय मिश्रा पर कसा शिकंजा, मकान कब्जा कर रहने और धमकी देने में दर्ज हुआ मुकदमा

फिर पत्नी और बेटे समेत विधायक पर दर्ज हुई एफआईआर

गुंडा एक्ट की कार्रवाई के बाद विधायक विजय मिश्रा की मुश्किलें लगातार बढ़ती चली गईं। उन्हीं के एक रिश्तेदार कृष्णमोहन ने अपने मकान पर कब्जा कर रहने, मकान की वसीयत उनके नाम करने और ऐसा न करने पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए गोपीेगंज थाने में विधायक विजय मिश्रा, उनकी पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा व बेटे विष्णु मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दिया। शिकायतकर्ता रिश्तेदार ने दावा किया कि विधायक धनापुर के जिस मकान में रहते हैं वह उसका है। इतना ही नहीं उसने अपनी फर्म पर भी विधायक द्वारा कब्जा किये जाने का आरोप लगाया। इस मामले में बुधवार 12 अगस्त को शिकायतकर्ता ने सीजेएम कोर्ट में 164 में कलमबंद बयान भी दर्ज कराया।

विजय मिश्रा पर एफआईआर के बाद सामने आया उनका बेटा, कहा एफआईआर कराने वाले ने हमारे 32 करोड़ हड़पे

सामने आए विजय मिश्रा दी सफाई

पत्नी व बेटे समेत अपने खिलाफ मुकदमा दर्ज किये जाने के बाद विधायक विजय मिश्रा सामने आए और आरोपों को मनेगढ़ंत बताते हु इसे अपने खिलाफ साजिश करार दिया। उन्होंने प्रशासन पर अपने खिलाफ षड़्यंत्र किये जाने का आरोप भी लगाया। उनके बेटे विष्णु मिश्रा ने उल्टे शिकायतकर्ता रिश्तेदार कृष्णमोहन पर अपनी फर्म का बकाया पैसा हड़पने की नीयत से मुकदमा दर्ज कराए जाने की बात कही। इसके बाद विधायक ने भी आरोप लगाया कि यह सब आने वाले पंचायत चुनावों से उनको दूर रखने के लिये किया जा रहा है, ताकि बाहर के माफिया आकर यहां कब्जा जमा सकें।

ये भी पढ़ें
मुश्किल में बाहुबली विजय मिश्रा, कसा पुलिस का शिकंजा

विजय मिश्रा के बेटे विष्णु मिश्रा ने पिता के बचाव में क्या कहा



Advertisement