सुदीक्षा भाटी को न्याय दिलाने और श्रद्धांजलि देने के लिए निकाला गया कैंडल मार्च

ग्रेटर नोएडा। दादरी क्षेत्र के डेरी स्कनर गांव की होनहार बेटी सुदीक्षा भाटी को न्याय दिलाने और श्रद्धांजलि देने के लिए ग्रामीणों, राजनीतिक और सामाजिक संगठन ने मिलकर कैंडल मार्च निकाला। यह कैंडल मार्च सुदीक्षा के घर से शुरू होकर गांव के प्राथमिक विद्यालय के बाहर से निकाला गया। जहां पर सुदीक्षा को सभी ने मौन रहकर श्रद्धांजलि दी और सुदीक्षा को न्याय दिलाने के लिए संघर्ष करने के लिए संकल्प लिया।

दरअसल, यूएस की स्कॉलर छात्रा सुदीक्षा भाटी की सड़क हादसे में 3 दिन पहले मौत हो गई थी। परिवार वालों का आरोप है कि वह स्कूटी से अपने मामा के मिलने जा रही सुदीक्षा के साथ बुलेट मोटरसाइकिल पर सवार दो लड़कों ने छेड़खानी की थी। इसके कारण हुए हादसे में उसकी मौत हो गई थी।

वहीं सुदीक्षा की मौत को बुलंदशहर जिला प्रशासन महज एक हादसा बता रहा है, जबकि परिवार वालों का कहना है कि यह हादसा नहीं है। क्योंकि सुदीक्षा के स्कूटी के सामने जानबूझकर मोटरसाइकिल लगाई गई। जिससे टकराकर वह गिर गई और उसकी मौत हो गयी। इस मामले में सुदीक्षा के पिता पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है। उनका कहना है कि बुलेट मोटरसाइकल सवार दो युवक स्कूटी से मामा के घर जा रही सुदीक्षा को लगातार परेशान कर रहे थे, जिसके चलते यह हादसा हुआ है। पुलिस ने जिस प्रकार घटनाक्रम को बताया है उसके अनुसार पुलिस ने धराए धाराएं नहीं लगाई हैं।

उधर, सुदीक्षा की मौत के बाद सभी विपक्षी राजनैतिक दल प्रदेश सरकार पर हमलावर हैं और सुदीक्षा को न्याय दिलाने की बात कह रहे हैं। सुदीक्षा को श्रद्धांजलि देने और न्याय देने के लिए संघर्ष करने के लिए कैंडल मार्च निकाला कर यह संदेश दिया कि सुदीक्षा को न्याय दिलाने कि संघर्ष कि यह शुरुआत है।



Advertisement