मरीज की मौत के बाद जिला अस्पताल में हंगामा, जमकर की तोड़फोड़, महिला डॉक्टर के साथ अभद्रता

नोएडा। सेक्टर 30 स्थित जिला अस्पताल में एक मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों ने शव न देने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर अस्पताल में तोड़ फोड़ कर दी। आरोप है कि इस दौरान आक्रोशितों नेे सरकारी दस्तावेज़ फाड़ डाले। साथ ही इमरजेंसी वार्ड में ड्यूटी पर तैनात महिला डॉक्टर के साथ अभद्रता की। हालात बेकाबू होने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुँचकर मामला शांत कराया। उधर, मामले में डॉ. डिपंल ने अभद्रता का आरोप लगाते हुए सेक्टर-20 थाने में तहरीर दी है।

यह भी पढ़ें: कुख्यात बदमाश रहे गुलाम हुसैन की करोड़ो रुपये कीमत की संपत्ति कुर्क

जानकारी केे अनुसार, सेक्टर-71 स्थित शिव शक्ति अपार्टमेंट्स निवासी 45 वर्षीय कुशलपाल को सुबह 7 बजे सीने में दर्द हुआ। परिजन उसको जिला अस्पताल लेकर आए। मरीज के परिजनों ने जिला अस्पताल के डॉक्टरों पर आरोप लगाया कि डॉक्टरों से बार-बार कहने के बावजूद एक घंटा तक इलाज नहीं मिला। विरोध करने पर स्वास्थ्यकर्मी ने दवा देकर आपातकालीन वार्ड में भेज दिया। सुबह 8 बजे आपातकालीन विभाग की डॉ. डिंपल ने मरीज की जांच की। इसी दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। परिजनो का आरोप है कि अगर समय से इलाज मिला होता तो कुशलपाल पति की मौत नहीं होती।

वहीं दोपहर एक बजे तक शव न मिलने पर परिजन भड़क गए विवाद का कारण मृतक का पोस्टमार्टम रहा। कुशलपाल को कोई बीमारी नहीं थी। उन्हें अचानक ही छाती में दर्द हुआ। वह पोस्टमार्टम नहीं चाहते थे। लेकिन डॉक्टर और पुलिस दोनों ने ही शव देने के लिए उन्हें इधर-उधर दौड़ाते रहे। कहा कि उनकी तीनों बेटियां व एक बेटा अपने पिता के शव के लिए कभी जिला अस्पताल तो कभी थाने में भटकते रहे। लेकिन किसी ने उनकी एक न सुनी। इसके बाद उन्होंने विरोध।

यह भी पढ़ें: 9 व 10 अगस्त को रद्द रहेगी कोलकाता अमृतसर एक्सप्रेस ट्रेन, जानिए वजह

मृतक के परिजनों ने आपातकालीन वार्ड में घुस कर महिला डॉक्टर के साथ हाथापाई और तोड़ फोड़ की और रिकॉर्ड फाड़ डाले। जानकारी होने पर सी एम एस डॉ. वीबी ढाका व डॉ. संतराम समेत दर्जनों डॉक्टर मौके पर पहुंच गए और भीड़ को इमरजेंसी से बाहर खदेड़ा। बाद में पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और स्थिति को संभाल लिया। हाथापाई करने के मामले में डॉ. डिंपल का आरोप है कि परिजनों ने दो पुलिस कर्मियों के बहकावे में आकर अभद्रता की है। उन्होंने पुलिस कर्मियों का नाम तहरीर में अंकित करते हुए थाने में तहरीर दी है। पुलिस का कहना है कि इस मामले में अस्पताल की तरफ से मिली शिकायत के आधार पर जांच की जा रही है। जांच के आधार पर कार्रवाई होगी।



Advertisement