Good News: कोरोना के मामले में पहले नंबर पर रहे नोएडा में तेजी से सुधरे हालात, अब स्थिति कंट्रोल में

नोएडा. गौतमबुद्धनगर में बीते 24 घंटे में कोरोना के 84 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि 76 मरीजों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। जिले में अब तक कोरोना संक्रमित 6182 मरीज मिले हैं, जिनमें से 5277 मरीज स्वस्थ हो चुके है। वहीं, 862 मरीजों का इलाज नोएडा के विभिन्न कोविड अस्पतालों में चल रहा है। अब तक जिले में इस वायरस के चपेट में आने के बाद 43 लोग जान गंवा चुके हैं। जिला प्रशासन का कहना है लगातार मरीजो के आने के बावजूद स्थित रिकवरी रेट बढ़ने और डेथ रेट में लगातार आ रही गिरावट के कारण स्थित कंट्रोल में है। बता दें कि एक समय यूपी में कोरोना संक्रमण के मामले में जिला पहले नंबर पर पहुंच गया था।

यह भी पढ़ें- Noida: जिले में 84 प्रतिशत की रिकवरी रेट, पांच हजार से ज्यादा मरीज हुए ठीक

मुख्य चिकित्सा अधिकारी दीपक ओहरी का कहना है कि अगस्त के पहले दो हफ्तों में कोरोना महामारी की स्थिति कंट्रोल में दिख रही है। उसका कारण यह है कि रिकवरी रेट तेजी से बढ़ा है और डेथ रेट में लगातार गिरावट आ रही है। वे बताते है पिछले एक महीने में कोरोना के संक्रमित मरीजो की रिकवरी रेट में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और वर्तमान में रिकवरी रेट 85 प्रतिशत है। जबकि जून माह में ये रेट 65 प्रतिशत था।

सीएमओ का कहना डेथ रेट में भी इस दौरान तेजी से गिरावट आ रही है। जून तक जो डेथ रेट 0.95 पर था वह अब गिरकर 0.70 पर आ गया है। वायरस के चपेट में आने के बाद 43 लोग जान गंवा चुके हैं, लेकिन पिछले 12 दिनो से किसी करोना मरीज की मौत नहीं हुई है। अगस्त के दो हफ़्तों में औसतन 65 मरीजो पाए गए हैं। जबकि जून में ये संख्या 95 थी। सीएमओ का कहना है कि कोरोना संक्रमित मरीजों का मृत्यु दर प्रदेश में सबसे कम है। जबकि मरीजों को स्वस्थ करने में प्रदेश में दूसरे स्थान पर है। मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं दी जा रही हैं, ताकि डेथ रेट को और कम किया जा सके।

यह भी पढ़ें- Weather Alert: बारिश से सराबोर हुई वेस्ट यूपी की धरती, जानिए दो दिन कैसा रहेगा मौसम



Advertisement