Impact: लाइन में लगकर किसान यूरिया-खाद का करते रहे इंतजार, इनके घर और गोदाम में मिला भड़ार

रामपुर। किसान सहकारी समितियों में एक दो खाद के कट्टों को लेकर अपनी जान ही दांव पर लगाए बैठे हैं। लेकिन उनको खाद नहीं मिल रहा, जबकि खाद की कालाबाजारी करने वाले आज भी सैकड़ों कट्टे लेकर ब्लैक कर किसानों से बड़ा मुनाफा कमा रहे हैं। पत्रिका द्वारा इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया गया। जिसपर संज्ञान लेकर अधिकारियों ने छापामारी कर सैकड़ों खाद यूरिया के कट्टे बरामद किए हैं।

यह भी पढ़ें: लखनऊ से एक गलत कमांड ने जन्माष्टमी पर कर दिया लाखों घरों मे अंधेरा

जिला कृषि अधिकारी चंद्रगुप्त सागर ने तहसीलदार सदर के साथ स्वार रोड एक बंद पड़े गोदाम में छापेमारी करके 230 यूरिया खाद के कट्टे बरामद करके गोदाम को सील किया है। अधिकारियों को सूचना मिली था कि जिस सख्स ने इन 230 कट्टों को इस गोदाम में छुपाकर रखा है, उसके घर की बैठक में यूरिया खाद का डंप लगा है । आनन फानन में जब वहां अफसर पहुंचे तो मौके से 71 यूरिया खाद के कट्टे बरामद हुए। कृषि अधिकारी ने खाद का सैंपल लेकर घर की बैठक समेत उसके गोदाम को सील कर दिया है।

जानकारी के अनुसार थाना गंज क्षेत्र के गाँव काशीपुर आंगा में महफूज अली का घर है। घर की बैठक में 71 कट्टे यूरिया के पाए गए हैं। जबकि सड़क किनारे बने उसके गोदाम में यूरिया के 230 कट्टे पाए गए हैं। जिला कृषि अधिकारी की छापेमारी में कुल 301 यूरिया और खाद के कट्टे बरामद हुए हैं। खाद के इन कट्टों को सील करके गोदाम और महफूज के घर की बैठक की चाबी जिला प्रशासन ने अपने पास रख ली है।

यह भी पढ़ें: स्वतंत्रता दिवस सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश, इन संवेदनशील जिलों में बढ़ाई सुरक्षा

जिला कृषि अधिकारी चंद्रगुप्त सागर ने बताया कि छापेमारी के दौरान इफको कम्पनी के 301 कट्टे यूरिया खाद के मिले हैं। गाँव के महफूज अली के गोदाम और उनके घर की बैठक से ये बरामद हुए हैं । इनसे पूछताछ की जा रही है। शीघ्र ही जांच पड़ताल करके इनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इफको खाद इतनी मात्रा में इनको कैसे मिल गया। ये नहीं बता पा रहें हैं। पर हम जांच कराएंगे। यूरिया खाद किसान के अलावा किसी को बिक्री हेतु नहीं मिलता है।



Advertisement