अब ब्लैक पाटरी के आएंगे अच्छे दिन, सरकार ने सीएफसी निर्माण के लिए दिया1.81 करोड़

आजमगढ़. विश्व प्रसिद्ध ब्लैक पाटरी उद्योग से जुड़े कुम्हारों के अब अच्छे दिन आने वाले हैं। सरकार ने पहले इस उद्योग को एक जिला, एक उत्पाद (ओडीओपी) के तहत चयनित कुम्हारों को बड़ी राहत दी थी। अब सरकार कॉमन फैसिलिटी सेंटर (सीएफसी) स्थापना कर इन्हें अपना बाजार मुहैया कराने जा रही है। सीएफसी निर्माण के लिए भूमि मिलने के बाद पिछले दिनों सीएम योगी ने वीडियो कांफ्रेंसिग के माध्यम से शिलान्यास भी किया था। अब सूक्ष्म लघु एवं उद्यम विभाग ने निर्माण के लिए 01 करोड़, 81 लाख रुपये बजट की मंजूरी दे दी है। कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश लघु उद्योग विभाग जल्द ही निर्माण शुरू करेगी।

बता दें कि 400 साल पुराना यह उद्योग हमेंशा से सरकारों की उपेक्षा का शिकार शिकार रहा लेकिन पिछले कुछ वर्षो में सरकार ने इस पर विशेष ध्यान दिया है। खासतौर पर यूपी की योगी सरकार ने इसे एक जनपद एक उत्पाद में शामिल कर संजीवनी प्रदान की है। अब सरकार यहां कॉमन फैसिलिटी सेंटर की स्थापना कराने जा रही है। माना जा रहा है कि इसकी स्थापना से इस उद्योग से जुड़े लोगों को बेहतर मार्केट मुहैया हो सकेगी।

कॉमन फैसिलिटी सेंटर की स्थापना के लिए शासन से स्वीकृति मिलने के बाद राजकीय चीनी पात्र विकास केंद्र की लगभग 5 एकड़ भूमि में 707 वर्ग मीटर जमीन चिह्नित कर दी गई। निजामाबाद निबंधन कार्यालय में अनुबंध के बाद ब्लैक पॉटरी फाउंडेशन ने 18 लाख रुपये जिला उद्योग एवं प्रोत्साहन के संयुक्त खाते में भेज दिया है। अनुबंध में तय हुआ है कि जिला उद्योग केंद्र की भूमि का किराया डीएम द्वारा निर्धारित सर्किल रेट का 10 फीसद देना होगा। हर पांच वर्ष पर संशोधित किया जाएगा।


कामन फैसिलिटी सेंटर की स्थापना के बाद ब्लैक पॉटरी को बनाने, डिजाइन, मिट्टी पकाने लिए टर्नर भट्ठी, मिट्टी गूंथने की सुविधा और पैकेजिग की सुविधा मिलेगी। शासन की ओर से हैदराबाद की संस्था नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एमएसएमई को अध्ययन के लिए चुना गया है। संयुक्त आयुक्त उद्योग रंजन चतुर्वेदी का कहना है कि परियोजना स्थापना के लिए शासन से स्वीकृति धनराशि की मंजूरी मिल गई है। जल्द ही निजामाबाद के हुसैनाबाद में चिह्नित जमीन में निर्माण शुरू हो जाएगा। प्रयास होगा कि इसे जल्द से जल्द पूरा किया जाय।

BY Ran vijay singh



Advertisement