खुदाई के दौरान मिला खजाना, मिट्टी के बर्तन में 1862 के चांदी और तांबे के पाए गए सिक्के

उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के सफीरपुर ग्राम पंचायत नन्हकऊ में पंचायत भवन निर्माण के लिए नींव की खुदाई के दौरान मिट्टी के बर्तन में 1862 के चांदी व तांबे के सिक्के पाए गए हैं। इसकी सूचना गांव वालों ने पुलिस को दी। सूचना मिलने पर पुलिस ने सिक्कों को कब्जे में लेकर एसडीएम कार्यालय पहुंचाया। बाद में सिक्कों को सील करके डीएम कार्यालय भेज दिया गया। ग्रामीणों के अनुसार दशकों पहले किसी ने यहां सिक्के छिपाए होंगे। खुदाई के दौरान यह सिक्के पाए गए।

तहसील क्षेत्र के नन्हकऊ गांव में ग्राम पंचायत द्वारा सचिवालय का निर्माण कराने के लिए खुदाई कराई जा रही है। मंगलवार को मजदूर नींव खोद रहे थे तभी अचानक फावड़ा मिट्टी के बर्तन से टकराया। तेज आवाज होने पर मजदूरों ने तुरंत हाथ से मिट्टी हटाई तो अंदर एक मिट्टी के बर्तन में चांदी व तांबे के सिक्के मिले। थाना आसीवन प्रभारी राजेश ने मौके पर पहुंच सिक्के अपने कब्जे में लेकर एसडीएम कार्यालय पहुंचाया एसडीएम राजेंद्र कुमार ने बताया कि चांदी के 17 सिक्के 1862 से लेकर 1919 तक के निकले हैं। साथ ही 287 सिक्के तांबे के हैं। तांबे के पुराने होने के कारण सन का पता नहीं चल पा रहा है। इसे सील कर जिलाधिकारी कार्यालय भेजा जा रहा है। वहां से पुरातत्व विभाग को भेजा जाएगा।

ये भी पढ़ें: अमेठी में तैयार होगा कोविड एल टू अस्पताल, 18 बेड का बनेगा आईसीयू



Advertisement