गौतमबुद्ध नगर में बेकाबू कोरोना, एक ही दिन में 238 पॉजिटिव, अबतक 48 लोगों की मौत

नाेएडा ( noida ) गौतमबुद्ध नगर में लॉक डाउन के खुलते ही कोविड-19 ( Corona virus )
ने अपना शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इस महीने में अब तक चार दिन मरीजों की संख्या 200 के पार जा चुकी है। यही वजह है सक्रिय मरीजों की संख्या में काफी इज़ाफा हुआ है।

यह भी पढ़ें: कोरोना का असर : रोज़गार छिनने के कारण पीएफ़ से रिकॉर्ड निकासी, 4 महीनों में 442 करोड़ करोड़ रुपये निकाले गए

बीते 24 घंटे में 238 लोगों के कोविड-19 वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। जिले के कोविड अस्पतालों में 1696 मरीजों का इलाज चल रहा है। एक कोरोना रोगी की माैत हाे चुकी है। 132 मरीजों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। जिला अस्पताल की ईएनटी विशेषज्ञ एक महिला डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद ईएनटी विभाग की ओपीडी बंद करा दी गई है।

यह भी पढ़ें: Corona virus आगरा-मेरठ से कम नहीं सहारनपुर में वायरस, पांच हजार से अधिक संक्रमित

प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग की ओर से बुधवार की शाम जारी आंकड़ों के मुताबिक गौतमबुद्ध नगर में बीते 24 घंटे में 238 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही जिले में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 9364 हो गई है। जिले के कोविड अस्पतालों में 1696 मरीजों का इलाज चल रहा है। 132 लोग कोरोना को परास्त कर अपने घर चले गए। इसके साथ ही कोविड-19 को मात देने वाले लोगों का आंकड़ा 7612 हो गया है। बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमित एक मरीज की मौत हो गई। इसके साथ ही जिले में महामारी की चपेट में आने से अब तक 48 लोगों की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग विभिन्न स्थानों पर शिविर लगाकर कोरोना की जांच करा रहा है।

यह भी पढ़ें: सहारनपुर में पानी लेने के लिए निली छात्रा से बंद मकान में खींचकर दुष्कर्म, अस्पताल में भर्ती

जिला अस्पताल की ईएनटी विशेषज्ञ एक महिला डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। उन्हें क्वारंटाइन करा दिया गया है। इतना ही नहीं उनके संपर्क में आए लोगों के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। सीएमएस डॉक्टर वीबी ढाका ने बताया कि ईएनटी विभाग में एक ही डॉक्टर हैं, लिहाज ईएनटी विभाग की ओपीडी बंद करा दी गई है। बताया कि, ईएनटी की डॉक्टर आपातकालीन विभाग में ड्यूटी कर रही थीं। डॉक्टर में कोरोना के लक्षण मिलने पर एंटीजन जांच की गई थी। पॉजिटिव होने की स्थिति में एक नमूना आरटी-पीसीआर जांच के लिए भी भेजा गया है।



Advertisement