पुलिस एनकाउंटर ने खोल दी यूपी के स्वास्थ्य व्यवस्था की कलई, गोली से घायल 25 हजार के इनामी बदमाश को नहीं मिली स्ट्रेेेेेचर

आजमगढ़. यूपी सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर लाख दावे करे लेकिन बुधवार की रात हुई पुलिस मुठभेड़ ने स्वास्थ्य व्यवस्था की कलई खोलकर रख दी। पुलिस की गोली से घायल बदमाश अस्पातल पहुंचा तो उसे एक स्टेचर तक मुहैया नहीं हो पाई। घायल अवस्था में बदमाश को लाठी के सहारे इमरजेंसी तक जाना पड़ा, यहीं नहीं उपचार के बाद वह पुलिस जीप तक भी उसी तरह लौटा लेकिन पुलिस भी संवेदनशील नजर आयी।

 

बात दें कि आजमगढ़ जिले के मेंहनाजपुर व देवगांव पुलिस की बुधवार की देर रात करीब 9.30 बजे ओघनी बाजार के पास 25 हजार के इनामी शातिर अपराधी राजमंगल यादव से मुठभेड़ हो गयी थी। इस मुठभेड़ में राजमंगल यादव पैर में गोली लगने से घायल हो गया था।

 

घायल बदमाश को लेकर दोनों थानों की पुलिस रात करीब 10.20 बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र टिकरगाढ़ लालगंज लेकर पहुंची थी। गोली लगने के कारण बदमाश दर्द से कराह रहा था लेकिन अस्पातल में एक अदद स्टेचर तक नहीं थी। पुलिस ने बदमाश को जीप से निकालने के बाद एक लाठी पकड़ा दी। उसी लाठी के सहारे बदमाश किसी तरह इमरजेंसी तक पहुंचा। यहां चिकित्सकों द्वारा उसका प्राथमिक उपचार किया गया। इसके बाद फिर वह लाठी के सहारे ही बाहर निकल रहा था कि वहां मौजूद एक व्यक्ति ने सहारा देकर पुलिस जीप तक पहुंचाया।

 

खास बात है कि यह अस्पताल क्षेत्र के बड़े अस्पतालों में गिना जाता है। यहां आपरेशन तक की सुविधा मौजूद है। समझा जा सकता है कि स्टेचर के आभाव में गंभीर मरीज कैसे इमरजेंसी अथवा ओटी तक पहुंचते होंगे। वहीं इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग का कोई अधिकारी कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं है।

By Ran Vijay Singh



Advertisement