थाने के सामने खरीदी गई जमीन को लेकर खूनी संघर्ष, पुलिस ने 27 के खिलाफ दर्ज किया केस

मेरठ. फलावदा के मोहल्ला बंजारान में बंजारों और मीरसाहब पक्ष के बीच हुई फायरिंग मामले में पुलिस सख्त हो गई है। इस प्रकरण में सात लोगों को नामजद और करीब 20 से अधिक अज्ञात पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ताबड़तोड़ दबिश दे रही है। गोली लगने से बंजारा पक्ष के 12 लोग घायल हुए थे। सभी को मेरठ के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालत गंभीर होने पर सलमान को दिल्ली के मैक्स अस्पताल रेफर किया गया है। वर्चस्व का मुख्य कारण बंजारा पक्ष द्वारा थाने के सामने खरीदी गई जमीन बताया जा रहा है। मोहल्ले में सन्नाटा पसरा हुआ है। पुलिस के गाड़ियों के सायरन की आवाजें गूंज रही है।

बता दें कि थाना फलावदा के मोहल्ला बंजारान में देर रात बंजारा जाति के सलमान के घर के बाहर भीड़ लगी हुई थी। बताया जा रहा है कि सलमान पक्ष के अकबर ने थाने के सामने हाल ही में करोड़ों रुपये की जमीन खरीदी है। बताया जाता है कि अकबर द्वारा जमीन खरीदना मीरसाहब के पक्ष के लोगों को नगवार गुजरा। अकबर द्वारा जमीन खरीदने को लेकर दोनों पक्ष में पहले तो कहासुनी हुई इसके बाद मारपीट होने लगी। आरोप है कि कुछ ही देर में मीर साहब पक्ष के फरहान, शानू समेत काफी लोग हाथों में हथियार लेकर बंजारों के घर पर धावा बोल दिया और फायरिंग शुरू कर दी। बंजारों की तरफ से भी कुछ लोगों ने फायरिंग की।

फायरिंग के दौरान बंजारा पक्ष के सलमान, हाजी पीरू, मेहताब, साबिर, फिरोज, शाद अली, फुरकान, चंदवा उर्फ काला, इरशाद, दिलशाद, सुलतान समेत 12 लोग घायल हो गए। इनमें तीन बच्चे भी शामिल हैं। देर रात ताबड़तोड़ फायरिंग की सूचना से पुलिस में हड़कंप मच गया। पुलिस मौके पर पहुंची। इसी बीच घायलों को उठाकर बंजारा पक्ष के लोग मेरठ ले आए। बताया जा रहा है कई लोगों को गोलियां लगी हैं।

घटना के बाद पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में ले लिया है। इन लोगों से पूछताछ की जा रही है। घायल बंजारा पक्ष के लोगों ने आरोप लगाया कि मीरसाहब पक्ष के लोग सलमान के घर में घुसकर रंगदारी मांग रहे थे। रंगदारी नहीं देने पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। देर रात मौके पर एसपी देहात अविनाश पांडे भी पहुंचे थे।



Advertisement