आलू 40 रुपये तो टमाटर 80 रुपये किलो, 15 दिनों में सब्जियों के भावों में दोगुने का इजाफा

सुलतानपुर. सब्जियों के बढ़ते दामों से आलू ,टमाटर और प्याज आम आदमी की पहुंच से दूर होते जा रहे हैं। उधर दालों के भाव में भी कोई कमी नहीं आ रही है। दलहन और सब्जियों के दामों में रोज हो रही बढ़ोतरी से आम आदमी के माथे पर पसीना आ गया है। उन परिवारों के सामने दो जून के लिए भोजन जुटाने की प्रॉब्लम खड़ी हो गई है जिन परिवारों में 7-8 सदस्य हैं।

ये हुए दाम

हरी सब्जियों के बाद अब टमाटर, आलू और प्याज के दामों में रोज हो रही बढ़ोतरी ने आम आदमी की परेशानी बढ़ा दी है। सब्जी बाजार में टमाटर के भाव अब 75 रुपये से 80 रुपए तक पहुंच गए हैं। पिछले महीनें तक 25 रुपये से लेकर30 रुपये तक बिकने वाली प्याज के दाम 40 रुपये से लेकर45 रुपये तक पहुंच गए हैं। उसके बाद सब्जियों के राजा आलू के भाव में 15 दिनों के भीतर दोगुने भाव बढ़ गए। आलू 25 रुपये से लेकर 28 रुपये प्रति किलोग्राम तक मे बिक रहा था, लेकिन 15 दिनों के भीतर आलू के बिक्री दामों में एकाएक उछाल आया और वह 45 रुपये से लेकर 50 रुपये में बिकने लगी।

इनके दाम भी बढ़ें

कोरोना काल में सब्जियों के दामों में ऐसा उछाल आया है कि इस पर नियंत्रण करना प्रशासन के बस की बात नहीं रह गई है। पिछले एक महीनें में सब्जियों के दामों में दोगुना उछाल आया है। ऐसा हरी सब्जियों के साथ ही नहीं हो रहा है। ऐसा ही हाल आलू ,प्याज और टमाटर के साथ भी हुआ है। दूसरी सब्जियां परवल ,बैगन आदि भी 40 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव में बिक रही हैं। सब्जी मंडी में धनिया 100 रुपये किलो बिक रही है तो लहसुन200 रुपये प्रति किलो के भाव है। नेनुआ 30 रुपये से 35 रुपए के भाव है। करैला और गोभी भी 40 से 45 रुपए प्रति किलोग्राम के भाव है । इस संबंध में मंदी सभापति रामजीलाल ने बताया कि अगर गोदामों पर आलू डम्प किया जा रहा है तो छापेमारी कर कार्यवाही की जाएगी।

ये भी पढ़ें: अतिरिक्त स्पेशल ट्रेनें चलाने की तैयारी, लेकिन अब पहले जैसी सुविधा नहीं मिलेगी



Advertisement