निर्वस्त्र होकर वीडियो कॉल के जरिये करता था गंदी बात, मोबाइल में मिले 500 लड़कियों के नंबर

गाजियाबाद. साइबर सेल ने एक ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है, जो केवल शौक के लिए दिल्ली, मुंबई, पंजाब और यूपी समेत कई राज्यों की लड़कियों को वॉटसऐप कॉल करके परेशान कर रहा था। युवक के खिलाफ गाजियाबाद के कविनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज की गई थी, जिसके बाद युवक को साइबर सेल ने रोहतक से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने जब युवक के मोबाइल की जांच की तो वह भी हैरान रह गई। उसके मोबाइल में 500 से ज्यादा लड़कियों के नंबर और चैट थे।

यह भी पढ़ें- युवती से छेडछाड़ के आरोपियों को पंचायत ने सुनाई थप्पड़ मारने की सजा, जानिये पूरा मामला

सीओ प्रथम अभय मिश्रा ने बताया कि आरोपी 22 वर्षीय दीपक हरियाणा के रोहतक का रहने वाला है और पांचवी पास है। वह कुछ ऐप का इस्तेमाल कर महिलाओं को परेशान कर रहा था। कविनगर थाने में शिकायत के बाद आईपी एड्रेस के जरिये साइबर सेल आरोपी तक पहुंची। पूछताछ के दौरान आरोपी दीपक ने बताया कि उसे केवल लड़कियों से ही बात करना अच्छा लगता था, लेकिन कोई गर्लफ्रेंड नहीं होने पर उसने लड़कियों से बात करने का यह तरीका निकाला। पुलिस के अनुसार, आरोपी युवक कोई भी नंबर डायल कर देता था, अगर उसे महिला उठाती तो उसे सेव कर वॉट्सऐप मैसेज भेजने शुरू कर देता था। मैसेज और कॉल के लिए वह ऐप का इस्तेमाल करता था, ताकि उसके नंबर के स्थान पर विदेशी नंबर शो हो। जिस मामले में आरोपी को गिरफ्तार किया गया है, उसमें साउथ कोरिया और फिलिपींस की आईडी वाले नंबरों का इस्तेमाल किया गया था।

निर्वस्त्र होकर करता था वीडियो कॉल

पुलिस पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि वह पहले केवल लड़कियों से बात करने की कोशिश करता था। इसके बाद वह उन्हें अश्लील वीडियो भेज देता था। इसके बाद वह उन्हें कभी भी दिन में निर्वस्त्र होकर कॉल करता और लड़कियों को भी वैसे ही वीडियो कॉल पर आने की धमकी देता। उसने बताया कि कुछ ने उसके नंबर को ब्लॉक कर दिया तो उसने दूसरे नंबरों से उन्हें परेशान करना शुरू कर दिया। आरोपी का कहना है कि उसका मकसद केवल शारीरिक संबंध बनाना था। इसलिए वह लड़कियों को परेशान करता था। इस दौरान उसने कुछ को बदनाम करने तक की धमकी दी थी।

कई लड़कियाें ने बदनामी के डर से मानी बात

पुलिस जांच में यह भी पता चला है कि कुछ महिलाओं ने परेशान होकर युवक की बात मान ली थी और बदनामी के डर से उन्होंने किसी से शिकायत नहीं की। इस कारण युवक का हौसला बढ़ गया। सीओ प्रथम ने बताया कि इस मामले में सबसे बड़ी बात शिकायत होना था। ज्यादातर लड़कियों ने अपने नंबर बदल लिए या फिर आरोपी की बात मान ली। कविनगर थाना क्षेत्र की एक महिला अधिवक्ता को जब इसने परेशान किया तो उन्होंने हिम्मत जुटाते हुए मुकदमा दर्ज करवाया। इसके बाद पुलिस आरोपी तक पहुंच सकी।

यह भी पढ़ें- नाबालिग से दुष्कर्म के बाद आराेपियों ने वीडियो कर दी वायरल, लड़की ने जहर खाकर दी जान



Advertisement