झांसी में ऑक्सीजन उत्पादन के लिए प्लांट लगाने की योजना, यहां से बुंदेलखंड होगी 50 फीसदी ऑक्सीजन की आपूर्ति

झांसी. बुंदेलखंड में ऑक्सीजन उत्पादन के लिए प्लांट लगाया जाएगा। इसके लिए योजना तैयार कर ली गई है। झांसी के गोरामछिया में ऑक्सीजन उत्पादन के लिए प्लांट लगेगा। यहां से बुंदेलखंड में प्रतिदिन एक हजार सिलेंडरों के बराबर गैस की आपूर्ति होगी। इसके बाद बुंदेलखंड को 50 फीसदी ऑक्सीजन की आपूर्ति यहीं से हो सकेगी। बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच अस्पतालों में ऑक्सीजन गैस की मांग बढ़ गई है। लेकिन झांसी में मांग के अनुसार आपूर्ति नहीं हो पा रही है। मेडिकल कॉलेज में कोविड में गंभीर मरीज भर्ती हो रहे हैं। ऐसे में सरकारी अस्पतालों को ज्यादातर ऑक्सीजन की सप्लाई हो रही है। निजी अस्पताल समेत एंबुलेंसों को बमुश्किल से ऑक्सीजन मिल पा रही है।

10 दिन में जारी हो सकता है लाइसेंस

ऑक्सीजन उत्पादन के लिए लगाए जाने वाले प्लांट के लाइसेंस के लिए आवेदन कर दिया गया है। 10 दिन के भीतर लाइसेंस जारी होने की संभावना जताई गई है। औषधि निरीक्षक उमेश भारती का कहना है झांसी के गोरामछिया में पहला ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट शुरू करने के लिए लाइसेंस का आवेदन किया गया है। वहां पर स्ट्रक्चर खड़ा हुुआ है। साथ ही, मशीनें भी उपलब्ध हैं। निरीक्षण कर लाइसेंस जारी करने की कार्रवाई की जाएगी। यह प्लांट रोज एक हजार सिलिंडर के बराबर ऑक्सीजन गैस उत्पादन करने की क्षमता रखता है। औसतन बुंदेलखंड में रोजाना दो हजार गैसों की खपत है। इसमें से ज्यादातर झांसी में ही गैसों की जरूरत होती है।

उत्तर प्रदेश में पांच ऑक्सीजन प्लांट

उत्तर प्रदेश पांच ऑक्सीजन प्लांट लगे हुए हैं। इसमें कानपुर, लखनऊ, गाजियाबाद, नोएडा आदि शामिल हैं। अब झांसी में शुरू होने के बाद यूपी में ऑक्सीजन उत्पादन करने वाले प्लांट की संख्या छह हो जाएगी।

ये भी पढ़ें: अनलॉक 4.0 में खुलेंगे स्कूल? शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने दी बड़ी जानकारी



Advertisement