बीकॉम प्रथम वर्ष के परीक्षा परिणाम जारी, यहां देखें रिजल्ट

मेरठ. कोरोना संक्रमण काल के चलते विवि के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि बिना परीक्षा दिए विवि ने बीकाम के प्रथम वर्ष के 18 हजार छात्रों को प्रमोट कर दिया। ये भी अब द्वितीय वर्ष में पढाई करेंगे। छात्र अपना परीक्षा फल विवि की वेबसाइट पर देख सकते हैं। प्रथम वर्ष का अंतिम रिजल्ट अगले वर्ष द्वितीय वर्ष के परिणाम पर निर्भर करेगा। सभी छात्र यूनिवर्सिटी वेबसाइट पर अपना रिजल्ट देख सकते हैं। समन्वयक प्रो. संजय भारद्वाज के अनुसार उक्त रिजल्ट छात्रों द्वारा ऑनलाइन भरे गए परीक्षाफॉर्म के आधार पर हैं। फॉर्म में गलत सूचना पर छात्र का रिजल्ट निरस्त कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- कोरोना और मास्क की आड़ में परीक्षा के दौरान इस तरह खुलेआम हो रही नकल

87 कॉलेजों ने नहीं भेजे विषम सेमेस्टर के नंबर

बार-बार निर्देशों के बावजूद मेरठ-सहारनपुर मंडल के 87 कॉलेजों ने दिसंबर 2019 में हुई विषम सेमेस्टर परीक्षा के इंटरनल और प्रैक्टिकल अंकों को नहीं भेजा है। विवि ने विषयवार अंक नहीं भेजने वाले कॉलेजों की सूची वेबसाइट पर अपलोड करते हुए दस सितंबर तक अंक अपलोड करने के निर्देश दिए हैं। विवि के अनुसार, कॉलेज अंकपत्रों की दो प्रतियां भी गोपनीय विभाग के 40 नंबर काउंटर पर जमा करा दें। अंक नहीं भेजने वालों में अधिकांश सेल्फ फाइनेंस कॉलेज शामिल हैं।

प्रोफेशनल परीक्षा में 28 पर्यवेक्षक तैनात

विवि ने शुरू हो रही स्नातक और स्नातकोत्तर प्रोफेशनल फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाओं पर निगरानी के लिए 28 पर्यवेक्षकों की तैनाती की है। ये परीक्षाएं 17 सितंबर तक 2.30-4.30 बजे तक 58 केंद्रों पर होंगी। परीक्षा में 15 हजार स्टूडेंट शामिल हो रहे हैं।

शिक्षक-कर्मचारियों का भुगतान करें कॉलेज

चौ. चरण सिंह विवि ने सभी सेल्फ फाइनेंस एवं प्रोफेशनल कॉलेजों से शिक्षक एवं कर्मचारियों को लॉकडाउन की अवधि का समस्त वेतन भुगतान करने के आदेश दिए हैं। कॉलेजों को वेतन भुगतान की रिपोर्ट विवि को भी पेश करनी होगी। शिक्षक लगातार कॉलेजों द्वारा वेतन भुगतान नहीं करने की शिकायतें कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- मृत घोषित कर अस्पताल ने युवक का शव सौंपा, घर लाते ही हो गया जीवित, जानें फिर क्या हुआ



Advertisement