लॉकडाउन के बाद तेजी से बढ़े सुसाइड के केस, मौत का ग्राफ देखकर रह जाएंगे हैरान

ग्रेटर नोएडा। कोरोना संक्रमण के दौरान लॉकडाउन और इसके बाद लोगों में अवसाद देखने को मिल रहा है। यही वजह है कि अवसाद से परेशान होकर छोटी-छोटी वजह से कई लोग अपनी जिंदगी समाप्त कर रहे हैं। आंकडों पर गौर करें तो लॉकडाउन से पहले तीन महीनों 50 लोगो ने सुसाइड किया था, जहां जनवरी में 16 लोगों ने, फरवरी में 19 लोगों ने और मार्च में 15 लोगों ने सुसाइड किया था। वहीं लॉकडाउन के बाद पाँच महीने में 145 लोग आत्महत्या कर अपनी जान गवां चुके हैं। अप्रैल में 24 लोगों ने, मई में 31 लोगों ने, जून में 34 लोगों ने, जुलाई में 30 लोगों ने और अगस्त में 26 लोगों ने सुसाइड किया है।

बीते 12 घंटे में नोएडा अलग-अलग थाना क्षेत्रों में 12 घंटे के अंदर दो महिलाओ सहित तीन लोगों ने सुसाइड कर लिया। सेक्टर- 134 स्थित जेपी कॉसमॉस सोसाइटी में युवती ने अपने जन्मदिन पर मंगलवार दोपहर को 10वीं मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली। सेक्टर 45 के खजूरी कालोनी में 42 महिला ने आग लगा सुसाइड किया जबकि सेक्टर 65 स्थित चोट पुर कालोनी 28 साल युवक ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली।

जन्मदिन के जश्न के बीच मातम

प्रियंका के जन्मदिन को लेकर खास तैयारी की गई थी। लेकिन उस समय जश्न के बीच पसरा गया केक काटने से पहले ही प्रियंका ने आत्महत्या कर ली । जन्मदिन पर आए केक की गुणवत्ता को लेकर विवाद हुआ था। जिसके बाद प्रियंका ने सेक्टर- 134 स्थित जेपी कॉसमॉस सोसाइटी के टावर संख्या 20 स्थित 1001 नंबर फ्लैट की बालकनी से छलांग लगा दी। परिजन उसे नज़दीक के अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। प्रियंका मास्टर ऑफ सोशल वर्क की पढ़ाई कर रही थी।

घरेलू विवाद के चलते कर लिया सुसाइड

आत्महत्या की दूसरी थाना सेक्टर-39 क्षेत्र स्थित खजूरी कॉलोनी में हुई जहां 42 वर्षीय राजेन्द्री का अपने पति रंजीत के साथ हुए घरेलू विवाद के बाद देर रात खजूर कालोनी स्थित अपने घर पर आग लगा कर सुसाइड कर लिया । मौके पर पहुंची पुलिस शव का पंचायतनामा भर कर आवश्यक विधिक कार्रवाई की जा रही है।

रोशन दान से लगाई फांसी

आत्महत्या की तीसरी घटना थाना फेज 3 क्षेत्र स्थित सेक्टर 65 स्थित चोट पुर कालोनी में हुई। जहां किराए पर रह रहे झारखंड निवासी 28 साल युवक प्रवीण ने रोशन दान से फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। पुलिस का कहना है कि प्रवीण ने कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है और परिवार वाले भी आत्महत्या का कोई कारण बता पा रहे है।



Advertisement