मु’खप’त्र सामना के द्वारा शिवसेना की अ’पील, कहा “मुंबई पर बाहरी लोगो का…”

कंगना रनौत और शिवसेना के बीच इस समय आ’र पा’र की जं’ग छि’ड़ी हुई है. जहाँ एक तरफ कंगना रनौत लगातार शिवसेना पर अपना निशा’ना सा’ध रही है. वही दूसरी तरफ शिवसेना भी कंगना रनौत पर प’लटवा’र करने में लगी हुई है. तो दूसरी तरफ अब इस मामले ने राजनी’तिक तू’ल भी प’कड़ लिया है. जिसकी वजह से अब ये वि’वाद कम होने की जगह और बढ़ता ही जा रहा है.

वही विपक्ष के लगातार ह’मले झे’लने के बाद शिवसेना ने अपना ट्र’म्प का’र्ड खेला है. शिवसेना ने अपने मु’खप’त्र सामना में लिखा है कि मुंबई के मह’त्व को कम करने का यो’जनाब’द्ध प्रयास किया जा रहा है. मुंबई की लगातार बदना’मी उसी साजि’श का हि’स्सा है.इसके साथ ही ये भी लिखा गया है कि  मुंबई को पा’किस्तान कहनेवाली एक न’टी (अभिनेत्री) के पीछे कौन है? महाराष्ट्र के भूमि’पुत्रों को एक हो जाना चाहिए. ऐसा ये मुश्कि’ल दौ’र आ गया है. इसके अलावा ये भी कहा गया है कि मुंबई को ग्रह’ण लगने का समय आ गया है और बाहरी लोग इसे ग्र’हण लगा रहे है.

इतना ही नहीं सामना में वि’पक्ष पर पल’टवार करते हुए ये भी लिखा गया है कि  कोई अज्ञा’त श’क्ति हमारी मुंबई के विरो’ध में यो’जनाब’द्ध ढं’ग से सा’जिश करती रहती है लेकिन संयुक्त महाराष्ट्र के लिए जेल के द’रवाजे पर कता’र लगानेवाले ‘वीर’ आज कुं’ठित हो गए हैं क्या? जाहिर है शिवसेना के सामना ने लिखे गए हर एक शब्द को बहुत सोच के लिखा गया है. साथ ही मराठा श’क्ति को बनाये रखने के उद्दे’श से लिखा गया है. क्यूंकि आज शिवसेना की फजी’हत हर जगह हो रही है.



Advertisement