मेंढ़क बनाता था मौत का सामान, फिर उसे करता था सप्लाई

मेरठ। पंचायत चुनाव की तिथि अभी घोषित भी नहीं हुई है और इसकी तैयारी मे अपराधिक किस्म के लोग जुट गए हैं। मेरठ में पंचायत चुनाव की सुगबुगाहट होते ही अवैध हथियारों के फैक्ट्रियों की बाढ सी आ गई है। अभी कुछ दिन पूर्व ही अवैध हथियारों के खिलाफ चलाए गए अभियान में पुलिस ने जिले में 100 से अधिक लोगों केा पकड़ा था। इन लोगों से भारी मात्रा में अवैध हथियार भी बरामद किए थे।

पिछले एक महीने में जिले में अवैध हथियारों की करीब 3 बड़ी फैक्ट्रियां पकड़ी जा चुकी हैं। गत सप्ताह थाना ब्रह्मपुरी क्षेत्र में तमंचा बनाने की फैक्ट्री पकड़ी गई थी। इसके ठीक एक सप्ताह बाद ही अब लिसाड़ी गेट क्षेत्र में तमंचे बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी गई है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। यहां से पुलिस ने 71 तैयार और बिन तैयार तमंचे बरामद किए है।

तमंचा फैक्ट्री लिसाड़ी गेट के अलीबाग में चल रही थी। पुलिस के अनुसार यह फैक्ट्री साबिर चला रहा था। यहां से बने तमंचों की सप्लाई गोला कुआं इस्लामाबाद निवासी समीर उर्फ मेंढक करता था। समीर शातिर किस्म का बदमाश है और पुलिस ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम रखा था, जबकि दिल्ली में वह एक लाख रुपये का वांछित इनामी बदमाश है।

इंस्पेक्टर प्रशांत कपिल ने बताया कि तमंचा फैक्ट्री चलाने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें समीर पर इनाम है। इससे पहले, ब्रह्मपुरी पुलिस ने फुरकान नाम की अपराधी को पकड़ा था। वह हथियारों की सप्लाई करता था।



Advertisement