बेरोजगारी के खिलाफ जोरदार आंदोलन में भूले महामारी, बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के सड़कों पर उतरे सपाई

बाराबंकी. प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी ने बढ़ती बेरोजगारी और किसानों, मजदूरों की समस्याओं को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान समाजवादियों ने सड़क को भी जाम रखा और सरकार को संबोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा। अपने आन्दोलन के दौरान समाजवादी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने अति उत्साह में महामारी की ढाल समझे जाने वाले उपाय मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग को भी जरूरी नहीं समझा। इसकी जमकर धज्जियां उड़ाईं।

सपाइयों का प्रदर्शन

बाराबंकी की सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे युवा समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अर्धनग्न होकर यह संदेश दिया कि अब उनके पास कुछ बचा नहीं है। इस आंदोलन में इनका साथ निभाने वाले बाराबंकी समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष हाफिज अयाज और सदर विधायक धर्मराज सिंह उर्फ सुरेश यादव भी पहुंचे। सदर विधायक और जिलाध्यक्ष भी बगैर मास्क के मौजूद थे और उन्हें भी सोशल डिस्टेंसिंग की कोई फिक्र नहीं थी।

सरकार की नींद तोड़ने की कोशिश

समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष आशीष सिंह आर्यन ने बताया कि हमने सड़क जाम कर प्रदेश और केन्द्र की गूंगी बहरी सरकार की नींद तोड़ने के का काम किया है। हम इसलिए नंगे हुए हैं कि हम सरकार को बताना चाहते हैं कि वास्तव में सभी नंगे हो चुके हैं और हमारे पास कुछ बचा नहीं है। सरकार हमारी बेरोजगारी दूर करे नहीं तो हम लखनऊ कूच कर विधानसभा के सामने प्रदर्शन करेंगे।

सरकार से सभी वर्ग परेशान

इस आंदोलन में शामिल होकर ज्ञापन देने पहुंचे सदर विधायक धर्मराज सिंह उर्फ सुरेश यादव ने बताया कि सरकार से सभी वर्ग परेशान हैं। किसान, मजदूर और युवा सभी सरकार की तरफ आशा भरी निगाहों से देख रहा है। जिस प्रकार अंग्रेजों ने भारत में आकर हिन्दुओं को मुस्लिम शाशकों से निजात दिलाने की बात कह कर यहां शासन किया था, उसी प्रकार भाजपा भी हिंदू और मुसलमानों को बांट कर शासन कर रही है। समाजवादी पार्टी सरकार को कभी अपनी मंशा में सफल नहीं होने देगी।



Advertisement