पूर्व विधायक के अंतिम संस्कार में शामिल होने से रोका, तो इस सपा नेता ने योगी सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

सीतापुर. उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में समाजवादी पार्टी के नेता एवं पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा ने लखीमपुर खीरी में पूर्व विधायक की हत्या किये जाने का आरोप लगाते हुए योगी सरकार पर जमकर हमला बोला और राज्य में कानून व्यवस्था बिगड़ी होने का आरोप लगाया। लखीमपुर के पूर्व विधायक के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए राजधानी लखनऊ से लखीमपुर खीरी जाते समय पुलिस प्रशासन ने उन्हें सीतापुर में ही रोककर वापस लौटा दिया। पुलिस की इस कार्यशैली से नाराज पूर्व मंत्री ने मीडिया से बातचीत में सरकार के रवैये की कड़ी आलोचना की और प्रदेश सरकार पर सवालिया निशान खड़े किए।

पूर्व विधायक की हत्या पर राजनीति गर्म

गौरतलब है कि जनपद लखीमपुर खीरी में पूर्व विधायक निर्वेन्द्र कुमार मुन्ना की जमीनी विवाद में हुई मौत को लेकर इन दिनों सियासी पारा ऊपर चढ़ा हुआ है। सोमवार को उनके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए सपा नेता और पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा लखनऊ से लखीमपुर खीरी जा रहे थे तो उन्हें सीतापुर के काजी कमालपुर इलाके में पुलिस ने रोक लिया और लखीमपुर खीरी जाने की इजाजत नही दी गयी। इसी के बाद मीडिया से बातचीत में पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा ने सरकार की कार्यशैली की जमकर आलोचना की।

मुझे जबरदस्ती रोका गया

पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा ने कहा कि उन्हें बिना किसी कारण और लीगल नोटिस के जबरदस्ती रोका गया है। यह सरकार लोंगो के मौलिक अधिकारों का हनन कर रही है। उन्होंने सवाल किया कि क्या किसी के अंतिम संस्कार में जाने का अधिकार नहीं रह गया है या फिर उनके वहां जाने से कौन सी कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने वाली थी। उन्होंने सरकार पर सवालियां निशान लगाते हुए कहा कि सरकार क्यों नही चाहती कि हम उनके अंतिम संस्कार में शामिल न हो सकें? यह स्थिति अलोकतांत्रिक है और सरकार ऐसा करके अपनी असफलताओं पर पर्दा डालने का प्रयास कर रही है।



Advertisement