बाहुबली अतीक अहमद का किलेनुमा पुश्तैनी घर भी गिराया गया, अब ड्रीम प्राजेक्ट की बारी

प्रयागराज. गुजरात की अहमदाबाद जेल में बंद बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद के खिलाफ योगी सरकार की कार्रवाई जारी है। अतीक का आलीशान ऑफिस का ज्यादातर हिस्सा तोड़ने के बाद अब प्रशासन ने अतीक अहमद के पुश्तैनी घर को भी पूरी तरह से जमींदोज कर दिया है। यह अतीक के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। प्रयागराज विकास प्राधिकरण का दावा है कि चार बीघे जमीन पर कब्जा कर अवैध निर्माण कराया गया था। इसकी जांच के बाद ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की गई है।

 

विकास प्राधिकरण प्रशासन और पुलिस के आलाधिकारी भारी पुलिस फोर्स, पीएसी व आरएएफ और फायर ब्रिगेड का काफिला लेकर अतीक अहमद के गांव चकिया पहुंचे। वहां पहले अतीक के घर की चारों तरफ से घेराबंदी की गई। उसके बाद पोकलेन और सात विशालकाय जेसीबी मशीनों ने अतीक का पुश्तैनी घर गिराना शुरू किया। चार बीघे में करीब 3000 स्कवायर मीटर में बना अतीक का किलेनुमा आलीशान घर था। इस दौरान इतनी ज्यादा फोर्स उतार दी गई थी कि किसी तरह का विरोध नहीं हुआ।

 

कार्रवाई के दौरान अतीक की पत्नी शाइस्ता बेगम, उनके तीन बेटे और वकील भी मौजूद रहे। वो लोग मजदूरों की मदद से घर का सामान बाहर निकलवा रहे थे। एक तरफ मकान टूट रहा था और दूसरी ओर उसमें से सामान निकाला जा रहा था। कहा जा रहा है कि करीब साढ़े पांच घंटे में अतीक का आलीशान मकान जमींदोज कर दिया गया।

 

पूर्व सांसद अतीक अहमद के खिलाफ कार्रवाई अभी रुकने की स्थिति में नहीं दिखायी दे रही है। अधिकारियों का कहना है कि जितने अवैध निर्माण की जानकारी मिल रही है उस पर इसी तरह कार्रवाई की जाएगी। उधर विकास प्राधिकरण के सचिव ने मीडिया केा बताया कि चर बीघे में अवैध निर्माण कराया गया था। इसकी जांच के बाद कार्रवाई की गई। यह अतीक अहमद के अवैध साम्राज्य पर 12वीं बड़ी कार्रवाई थी। बताते चलें कि अतीक के ड्रीम प्रोजेक्ट करोड़ों की लागत से बने 'किसान कोल्ड स्टोरेज’ को प्रशासन ने डायनामाइट से उड़ाकर ध्वस्त करने का फैसला किया है। इसके लिये एक्सपर्ट की मदद ली जा रही है। यूपी में यह पहली बार होगा कि किसी माफिया की इमारत इस तरह जमींदोज की जाएगी।



Advertisement