हां.. ये जातिगत सर्वे मैंने कराया है : संजय सिंह

लखनऊ. आम आदमी पार्टी राज्यसभा सांसद व यूपी प्रभारी संजय सिंह ने कहाकि, हां.. ये जातिगत सर्वे मैंने कराया है, इस सर्वे की जिम्मेदारी मैं लेता हूं। आप (सीएम योगी) मुकदमे कराते रहिए मैं अपना काम करता रहूंगा। भाजपा प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने संजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि, संजय सिंह ने सर्वे का जिम्मा डर वश लिया है। क्योंकि उन्हें पता था कि मुकदमे की जांच में उनका नाम सामने आना ही है।

उत्तर प्रदेश में जातिगत सर्वे का काम आम आदमी पार्टी ने शुरू किया है। 24 घंटे में लाखों लोगों से पूछा गया कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ सिर्फ ठाकुरों के लिए काम कर रहे हैं। जवाब गोपनीय रखने का दावा किया गया। मामला शासन तक पहुंचा तो अज्ञात के खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज थाने में आईटी एक्ट और जातिगत भावना भड़काने (501-ए) के तहत मामला दर्ज किया है। यह जातिगत सर्वे 744717843 नंबर से कॉल कर किया जा रहा था।

एक और मुकदमा दर्ज:- राज्यसभा संजय सिंह बुधवार को वीडियो जारी कर कहा कि, यूपी सरकार ने मेरे ऊपर 10वां मुकदमा दर्ज कराया है। यूपी में ब्राह्मणों की हत्या कराना अपराध नहीं है। दलितों का अपराध करना अपराध नहीं है। लेकिन, योगी सरकार जातिवादी है या नहीं यह राय लेना अपराध है। मैंने यह सर्वे कराया कि यह सरकार जातिवादी है या नहीं? यह राय जानना अपराध है। यदि आप मानते हैं जातिवादी है तो एक दबाइए, नहीं है तो दो दबाइए। जनता की राय जानने से पहले सर्वे का रिजल्ट आने से पहले सरकार ने एक और मुकदमा दर्ज करा दिया।

63 फीसद ने माना योगी सरकार ठाकुरों के साथ :- आप नेता संजय सिंह ने बुधवार शाम प्रेसवार्ता कर अपने कराए सर्वे का आंकड़ा बताया कि, दो दिन के भीतर लाखों लोगों को कॉल हुए। जिसमें से 63 फीसद लोगों ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ठाकुरों के लिए काम कर रही है। एक जाति की सरकार चल रही हैं। 9 फीसद लोगों ने जवाब देने से मना कर दिया और 28 फीसद लोगों ने कहा कि योगी सरकार ठाकुरों के लिए काम नहीं कर रही है।



Advertisement