कोरोना संकट में निष्ठा से काम कर रहे पुलिसकर्मियों की एसपी ने की तारीफ, नागरिकों को किया सावधान

बाराबंकी. कोरोना महामारी में पूरी निष्ठा के काम करने और भाषायी मर्यादा बनाये रखने वाले एक पुलिसकर्मी की तारीफों के पुल खुद बाराबंकी के एसपी डॉ अरविंद चतुर्वेदी ने बांधे। एसपी ने पुलिसकर्मी की भाषा की तारीफ करते हुए कहा कि इनका काम, इनकी रिपोर्ट और इनकी नेतृत्व क्षमता इन्हें औरों से अलग करती है। इस पुलिसकर्मी की जितनी भी तारीफ की जाए वह कम ही होगी। एसपी ने उन युवाओं और नागरिकों को भी आगाह किया जो इस महामारी में लापरवाही से बाज नहीं आ रहे और अपने ऊपर मुकदमे दर्ज करवा रहे हैं। एसपी ने कहा कि यह मुकदमे उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए घातक हैं और योग्यता के बावजूद यह मुकदमे उन्हें आगे बढ़ने नहीं देंगे। इसलिए वह इसके प्रति लापरवाही न करें और कोरोना नियमों का पालन करें।

पुलिस हुई सख्त

बाराबंकी में कोविड नियमों की धज्जियां उड़ा रहे नागरिकों पर पुलिस सख्त हो गयी है और लॉक डाउन के दिन बिना कारण निकलने, सार्वजनिक स्थानों पर थूकने और भीड़भाड़ इकट्ठा करने वालों के खिलाफ मुकदमा लिखना शुरू कर दिया है। इन मुकदमों से बचने के लिए एसपी ने युवाओं से आग्रह किया है कि वह लोग इन मुकदमो से बचें, जिससे उनका भविष्य बिगड़ने न पाए। अन्यथा योग्यता होने के बावजूद यह मुकदमे उनकी राह रोकने का काम करेंगे। पुलिस द्वारा चलाये जा रहे कोविड टास्क फोर्स में काम करने वाले पुलिसकर्मी की तारीफ करते हुए कहा कि इस पुलिस कर्मी की भाषा बहुत अच्छी है। इसने कभी भी भाषा की मर्यादा नही लांघी है।

एसपी ने की पुलिसकर्मी की तारीफ

एसपी डॉक्टर अरविन्द चतुर्वेदी ने बताया कि कोविड टीम में काम करने वाले पुलिसकर्मी नसीम शासन को भेजी जाने वाली सभी रिपोर्ट तैयार करते हैं और इनकी भाषा उच्चकोटि की है। नसीम ने कभी भाषायी सीमा की मर्यादा को पार नहीं किया है। इसलिए इनकी जितनी तारीफ की जाए कम ही है। एसपी ने कोविड नियमों का उल्लंघन करने वाले युवाओं से आगाह करते हुए कहा कि वह इन नियमों की अनदेखी न करें। अन्यथा भविष्य में यह मुकदमे उनकी राह रोक लेंगे।



Advertisement