यूपी के आठ जिलों में नए डीएम, सीएम योगी ने सात आईएएस से छीना डीएम का पद, वेटिंग में डाला

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की बदहाल कानून व्यवस्था को लेकर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की भृकुटि तन गई है। लगातार जनता और जनता के प्रतिनिधियों से आ रही शिकायतों पर यूपी सीएम योगी ने एक बड़ा कदम उठाया। गुरुवार आधी रात को सीएम योगी ने कानून व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए आठ जिलों के एसपी बदलने के साथ ही पांच अन्या आईपीएस को दूसरी जिम्मेदारियां सौंपी। इसके साथ ही दौर शांत नहीं हुआ। शुक्रवार रात फिर सीएम योगी ने अपने तेवर को दिखाते हुए आठ जिलों के जिलाधिकारियों को हटा कर उन्हें प्रतीक्षा सूची में डाल दिया है। साथ ही नए जिलों के नए डीएम को तत्काल जिलों में जाकर कार्यभार ग्रहण करने का निर्देश दिया है। मेरठ, इटावा, सीतापुर, ललितपुर, सुल्तानपुर, ग़ाज़ीपुर, मऊ, संतकबीरनगर के जिलाधिकारी को बदल दिया गया है। इन तबादलों में रवीश गुप्ता अकेले ऐसे अफसर हैं, जिन्हें दूसरे जिले की कमान मिली है।

हटाए गए डीएम :- बताया जा रहा है कि सुल्तानपुर व ग़ाज़ीपुर के डीएम समेत सभी को कामकाज ठीक न होने के कारण हटाया गया है। सुल्तानपुर में आक्सीमीटर ख़रीद विवाद ने बड़ा रुप धारण कर लिया। और इस विवाद ने सुल्तानपुर डीएम का काम तमाम कर दिया। मेरठ के डीएम अनिल ढीगड़ा, इटावा के जितेंद्र बहादुर सिंह, सीतापुर के अखिलेश तिवारी, ललितपुर के योगेश कुमार शुक्ला, सुलतानपुर की डीएम सी इंदुमती और मऊ के ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी को प्रतीक्षा सूची में डाल दिया गया है। इन तबादलों में रवीश गुप्ता अकेले ऐसे अफसर हैं, जिन्हें दूसरे जिले की कमान मिली है।

नई जिम्मेदारिया :- के बालाजी को मेरठ, श्रुति सिंह इटावा, विशाल भारद्वाज सीतापुर, ए दिनेश कुमार ललितपुर, रवीश गुप्ता सुलतानपुर, मंगला प्रसाद सिंह गाजीपुर, राजेश पांडेय मऊ, दिव्या मित्तल को संतकबीर नगर का जिलाधिकारी बनाया गया है।

इन आईएएस को मिला जिलों का चार्ज :-

नए डीएम जिला
के बालाजी एमडी पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम वाराणसी मेरठ
श्रुति सिंह यूपी मेडिकल सप्लाई कार्पोरेशन की एमडी इटावा
विशाल भारद्वाज स्टाफ ऑफिसर मुख्य सचिव सीतापुर
ए. दिनेश कुमार, विशेष सचिव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी ललितपुर
रवीश गुप्ता, जिलाधिकारी संतकबीरनगर सुल्तानपुर
मंगला प्रसाद सिंह, सचिव लखनऊ विकास प्राधिकरण गाजीपुर
राजेश पांडेय, मेरठ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष मऊ
दिव्या मित्तल, चेयरमैन बरेली विकास प्राधिकरण संतकबीरनगर



Advertisement