स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, कोरोना निगेटिव व्यक्ति को किया क्वारंटाइन

ललितपुर. जिले के बिरधा अंतर्गत ग्राम सतरवास के रहने बाले निवासी छक्की ने अपनी कोरोना की जांच बिरधा स्वास्थ्य केंद्र के सेंटर पर कराई थी। जहां पर जांच के बाद उसकी कोरोना निगेटिव आई थी। जिसके बाद उसे घर जाने की इजाजत दे दी गई थी। उस व्यक्ति के पास अस्पताल द्वारा जारी किया गया पर्चा मौजूद है जिस पर स्पष्ट रूप से जांच रिपोर्ट नेगेटिव दर्शाई गई है। लेकिन जांच के 4 दिन बाद स्वास्थ्य विभाग की एमवुलेन्स उसके घर पहुची तब जब वह व्यक्ति घर पर नहीं मिला। तब उसके बारे में जानकारी कर उसे खोजा गया और वहां से उसे जबरन उठाकर तालबेहट स्थित सेंटर पर कोरंटिन कर दिया। जबकि पर्चे में टेस्ट निगेटिव लिखा है।

इस तरह के संजीदा मामले में स्वास्थ्य विभाग की जांच प्रणाली कई सवालों को जन्म देती है। साथ ही जनपद के आला अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर बड़े सवालिया निशान लगाती है। और सबसे बड़ा सवाल क्या कोरोना की जांच रिपोर्ट में इसी तरह की धांधली की जा रही है। क्योंकि ऐसे कई मामले आए हैं जिनके सभी परिजन नेगेटिव आए हैं और एक वह छोटा बच्चा जो हमेशा अपने माता पिता के साथ रहता है उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

ये भी पढ़ें: कुपोषित परिवारों को गाय देगी योगी सरकार, भरण पोषण के लिए मिलेंगे 900 रुपये प्रतिमाह



Advertisement