पुलिसकर्मियों ने प्रेमी युगल की थाने में करवाई शादी, ऐतिहासिक पल के बने गवाह

सीतापुर. थाने में पुलिसकर्मियों द्वारा प्रेमी युगल का विवाह कराने का मामला सामने आया हैं। यहां तीन वर्षों से प्रेम संबंधों में बंधे प्रेमी युगल ने साथ जीने और मरने की कसमें खाकर दांपत्य जीवन में बंधना चाहा तो दोनों के परिजन राजी नही हुए। परिवार बाधा बना तो प्रेमी युगल ने पुलिस की शरण ली। पुलिस ने दोनों के परिजनों को बुलाकर बातचीत की लेकिन वह नही माने तो थानेदार ने थाना परिसर में ही दोनों की पूरे रीति रिवाज के साथ शादी करवा दी। पुलिसकर्मियों ने दोनों प्रेमी युगल को आशीर्वाद देकर थाने से विदा कर दिया।

पुलिसकर्मियों ने करवाई शादी

मामला सीतापुर के संदना थाना इलाके का है। यहां के ग्राम रालामऊ निवासी 25 वर्षीय मोहन का गांव के ही रहने वाले रामभजन की 23 वर्षीय पुत्री कविता के साथ प्रेम प्रसंग था। मिली जानकारी के मुताबिक, दोनों प्रेमी युगल का प्रेम सम्बंध पिछले तीन वर्षों से चला आ रहा था और दोनों एक ही बिरादरी के होने के चलते भी परिवार वाले शादी के लिए राजी नही थे। दोनों प्रेमी युगल ने अपने अपने परिवार वालों से बातचीत का काफी प्रयास किया लेकिन उनके परिजन राजी नही हुए तो उन्होंने पुलिस की शरण ली और थाने पहुंचकर मामले की पूरी जानकारी दी। थाने में मौजूद थानाध्यक्ष ने प्रेमी युगल की बात सुनकर दोनों के परिजनों को थाने बुलाकर बातचीत की लेकिन परिजन फिर भी नही माने। पुलिस ने दोनों को घर भेज दिया और दो दिन बाद थाने आने को कहा। दो दिन बाद जब प्रेमी युगल थाने पहुंचे तो एसओ राम विलास ने गांव वालों की मौजूदगी में प्रेमी युगल की थाने के परिसर में ही रीति रिवाज के साथ शादी करवा दी और जयमाला डलवाकर रस्म पूरी करायी। एसओ संदना का कहना है कि प्रेमी युगल बालिग थे इसलिए दोनों की शादी थाने में करवाकर आर्शीवाद देकर विदा कर दिया गया है।



Advertisement