गोली लगने से व्यापारी की मौत, आईपीएस पर हत्या का आरोप, अखिलेश ने योगी सरकार को लेकर कह दी ये बात

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार को लेकर फंसे आईपीएस अधिकारी मणिलाल पाटीदार पर आरोप लगाने वाले व्यापारी की रविवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। महोबा के कारोबारी की मौत से उत्तर प्रदेश की राजनीति में हलचल मच गई है। मौत के बाद कारोबारी के निवास क्षेत्र को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। मामले में समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है।

गोली लगने से व्यापारी की मौत, आईपीएस पर हत्या का आरोप, अखिलेश ने योगी सरकार को लेकर कह दी ये बात

302 में तब्दील हुआ मामला

दरअसल, महोबा के एसपी रहे मणिलाल पाटीदार पर आरोप है कि उन्हें जिले के एक कारोबारी से हर महीने पांच लाख की वसूली शुरू की थी। कहा गया कि आईपीएस ने वसूली की पहली किस्त भी ले ली थी। इसकी शिकायत क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने की थी। जिसके बाद आईपीएस मणिलाल पाटीदार के खिलाफ 307,120-बी जैसी गम्भीर धाराओं में एफआईआर दर्ज हुई थी। वहीं शिकायत के बाद क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने आठ सितंबर को पुलिस अधीक्षक मणिलाल पाटीदार पर हत्या कराने का आरोप लगाते हुए वीडियो वायरल किया था। वीडियो में कहा गया था कि अगर उनकी हत्या होती है तो इसके लिए मणिलाल पाटीदार जिम्मेदार होंगे। वीडियो वायरल होने के कुछ ही घण्टों बाद करोबाई को अज्ञात लोगों ने गोली मार दी थी। उसके बाद से अब तक यानी छह दिन उनका रीजेंसी में उपचार हुआ लेकिन आज उनकी मौत हो गयी। कारोबारी की मौत के बाद मामला 302 में तब्दील हो गया है।

अखिलेश ने किया कटाक्ष

इस मामले पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर कटाक्ष किया है। अखिलेश ने ट्विट किया, ''भाजपा शासन में व्याप्त भ्रष्टाचार का भंडाफोड़ करनेवाले व्यापारी श्री इन्द्रकांत त्रिपाठी की हत्या ने साबित कर दिया है कि शासन की ‘ठोको नीति’, पुलिस-प्रशासन के ‘फ़ेक एनकाउंटर’, विपक्षी राजनीतिज्ञों के ऊपर ‘झूठे मुक़दमों’ की भाजपाई नीति से उप्र किस गर्त में चला गया है।''

ये भी पढ़ें: गाय को बचाने के कारण अनियंत्रित हुई रोडवेज बस, 12 अस्पताल में हुए भर्ती



Advertisement