सीएम योगी यूपी को बनाएंगे देश की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी, जमीन खोजने के दिए निर्देश

लखनऊ. उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी को देश की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी बनाने का फैसला किया है, जिसके लिए उन्होंने फिल्म सिटी बनाने को अधिकारियों को जमीन खोजने के निर्देश दिए है। सीएम योगी का कहना है कि वर्तमान परिस्थितियों में देश को एक अच्छी फिल्म सिटी की आवश्यकता है। उत्तर प्रदेश यह जिम्मेदारी लेने के लिए पूरी तरह से तैयार है। हम एक उम्दा फिल्म सिटी तैयार करेंगे। सीएम योगी ने नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में से किसी एक प्राधिकरण में फिल्म सिटी के निर्माण के लिए जमीन की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि यह फिल्म सिटी फिल्म निर्माताओं को एक बेहतर विकल्प उपलब्ध कराएगी, साथ ही, रोजगार सृजन की दृष्टि से भी अत्यंत उपयोगी प्रयास होगा। इस दिशा में भूमि के विकल्पों के साथ यथाशीघ्र कार्ययोजना तैयार की जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को अपने सरकारी आवास पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मेरठ मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। वीडियो कांफ्रेंसिंग में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग सहित मंडल के जनप्रतिनिधि भी शामिल थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनप्रतिनिधियों से फीडबैक प्राप्त करते हुए अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। कैलाश मानसरोवर भवन निर्माण की स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गाजियाबाद में जनप्रतिनिधियों के प्रशिक्षण हेतु प्रस्तावित केंद्र के निर्माण कार्य को शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिए।

लंबित परियोजनाओं को आगे बढ़ाने की दी हिदायत

मुख्यमंत्री योगी ने गाजियाबाद और मेरठ स्मार्ट सिटी योजना के कार्यों में तेजी लाने के लिए कहा। मंडल के सभी जिलों में अमृत योजना के कार्यों को समयबद्ध ढंग से पूरा करने पर जोर दिया। मण्डलायुक्त को स्मार्ट सिटी और अमृत योजना के कार्यों की साप्ताहिक समीक्षा करने का निर्देश दिया। इन योजनाओं की जिला स्तर पर भी नियमित समीक्षा के निर्देश दिए। मेरठ के ग्राम दादरी में राजकीय महिला महाविद्यालय के निर्माण कार्यों में तेजी लाने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने नोएडा में सफाई कर्मियों तथा बिल्डर्स-बायर्स की समस्याओं के प्रभावी समाधान के निर्देश दिए। बुलंदशहर और गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारियों को समन्वय के जरिये लंबित परियोजनाओं को आगे बढ़ाने की हिदायत दी।

विकास कार्यों में लाई जाए तेज गति

सीएम योगी ने शासन स्तर पर लंबित मेरठ मंडल के प्रकरणों पर शीघ्र निर्णय लेकर निस्तारण के निर्देश दिए। विकास कार्यों में गति लाने के लिए प्रत्येक परियोजना के लिए एक नोडल अधिकारी तैनात करने को कहा। बरसात के बाद सड़कों को तेजी से गड्ढामुक्त बनाने पर बल दिया। कोविड-19 के मद्देनजर अस्पतालों में ऑक्सीजन और दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। पंचायत भवनों के लिए भूमि चयन के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बारे में जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद बनाकर कार्यवाही की जाए। ग्रामीण स्तर संचालित निर्माण योजनाओं की जियो टैगिंग कराने के लिए कहा।

किसान उत्पादक संगठनों के गठन की प्रक्रिया में तेजी लाई जाए

मुख्यमंत्री योगी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत ब्लॉक स्तर पर किसान उत्पादक संगठनों के गठन की प्रक्रिया में तेज लाने और कृषि उपज के लिए भंडारण क्षमता बढ़ाने का निर्देश दिया। उन्होंने मंडल के हर जिले में पर्यटन की संभावनाओं वाले स्थलों को विकसित करने तथा एमएसएमई सेक्टर और एक जिला एक उत्पाद योजना पर फोकस करने का निर्देश दिया। तालाबों और नदियों के पुनरोद्धार पर जोर देने के साथ 24 से 48 घंटे में खराब ट्रांसफॉर्मर को दुरुस्त करने के लिए कहा।



Advertisement