सितंबर के आखिरी दिनों में गुलाबी सर्दी का अहसास

मेरठ। पिछले 24 घंट में जहां मेरठ का तापमान 37 डिग्री था वहीं अचानक से तापमान में बदलाव आया और यह 3 डिग्री नीचे गिर गया। यानी 34 डिग्री सेंटीग्रेड। आज रविवार को सुबह से ही आसामान में हल्के बादलों ने डेरा डाला हुआ है। जिसके कारण पिछले 27 दिन से पड़ रही गर्मी की तपिश भी कम हुई। सितंबर के आखिरी दिनों में अचानक से गुलाबी सर्दी का अहसास मेरठ वासियों को हुआ। सितंबर में पूरे माह जहां तापमान 36—37 डिग्री पर बना हुआ था। जिसके कारण पूरे महीने तेज गर्मी और उमस ने मेरठवासियों का बुरा हाल किया हुआ था। तेज उमस और धूप के कारण लोगों को सितंबर में भी जून जैसी गर्मी का अहसास हो रहा था।


आज सुबह अचानक से मौसम में परिवर्तन हुआ और आसमान में हल्के बदलों ने डेरा डाल दिया। बादलों ने गर्मी उगल रहे सूर्य को अपने आगोश में छिपा लिया। जिसके चलते तापमान में भी 3 डिग्री का अंतर आ गया। रविवार की सुबह इस तरह के मौसम का आनंद मेरठवासियों ने लिया। वहीं बुजुर्ग लोगों को इस मौसम ने गुलाबी सर्दी का अहसास कर दिया। मौसम में यह बदलाव वैज्ञानिकों केा भी हैरान करने वाला है। पिछले 24 घंटे पहले जहां कृषि वैज्ञानिक मेरठ के किसानों को फसल न बोने की सलाह दे रहे थे। वहीं अब वे इस बदले मौसम से हैरान होकर इसका अवलोकन करने में जुट गए हैं।

कृषि वैज्ञानिक डा0 आरएस सेंगर का कहना है कि यह बदलाव अगर ऐसे ही रहता है तो यह आगामी फसलों के लिए बहुत ही अच्छा रहेगा। इस समय यह मौसम ऐसे ही रहे तो आलू की बुवाई के लिए भी सर्वोत्तम है। बता दे कि पिछले एक सितंबर से मौसम में हो रहे परिवर्तन से मौसम वैज्ञानी तो हैरान थे ही साथ ही लोग भी परेशान थे। इस बार सितंबर में मौसम ने कई ऐसे रिकार्ड तोड़ दिए जो कि कभी सितंबर में देखे नहीं गए। चाहे वो तापमान का रहा हो या आर्द्रता के स्तर का। लेकिन जबसे मौसम में बदलाव आया है तो मेरठवासियों ने काफी राहत ली है।



Advertisement