किन्नर की गद्दी और लाखों की संपत्ति पाने के लिए रची गई थी साजिश, पूरे खेल का हुआ ऐसे खुलासा

प्रयागराज. प्रयागराज में एक किन्नर (Transgender) की हत्या की साजिश पुलिस ने नाकाम कर दी। किन्नर की हत्या (Murder) की साजिश रचने वालों में उसका पति, देवर व एक किन्नर ही थी। मारने के बाद पति को लाखों को संपत्ति व साजिश में शामिल किन्नर को किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर की गद्दी मिल जाती, लेकिन उनके यह मंसूबे पूरे नहीं हो पाए। पुलिस ने सुपारी गैंग के पांच सदस्यों को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा किया।

ये भी पढ़ें- UP Traffic Rules: आम जनता नहीं, नियम तोड़ने पर इन बड़े अधिकारियों पर लगेगा डबल जुर्माना

यह है पूरा मामला-

मामला प्रयागराज (Prayagraj) का है। यहां छोटी नाम की किन्नर ने दरियाबाद के रहने वाले अहमद से पहली शादी की थी। दोनों में शुरूवात में सब कुछ ठीक था। छोटी किन्नर ने पति अहमद को 50 लाख से ज्यादा की कीमत का एक मकान भी दिलावाया था। लेकिन बाद में रिश्ते में खटास पैदा हो गई और छोटी किन्नर ने अहमद से अलग होने का फैसला कर लिया। इसी बीच छोटी किन्नर से अलग हुई शिवानी किन्नर से उसकी नजदीकिया बढ़ गई है। वो दोनों साथ में भी रहने लगे। इसके बाद छोटी ने अहमद से अपने मकान का हिस्सा मांगा। यहां पर अहमद की नीयत खराब हो गई। और उसने अपने भाई को छोटी के मारने का ठेका दे दिया।

ये भी पढ़ें- भाजपा विधायक ने इस जिलाधिकारी पर लगाया बड़े भ्रष्टाचार का आरोप, कर रही थीं तीन गुना अधिक वसूली

महामंडलेश्वर की गद्दी भी निशाने पर-

छोटी को मारने से अहमद के लिए मकान के बंटवारे का झंझट खत्म हो जाता। साथ ही प्लानिंग यह भी थी कि छोटी किन्नर की हत्या का आरोप किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर टीना पर लग जाता और शिवानी को अखाड़े की महामंडलेश्वर की गद्दी मिल जाती। लेकिन ऐसा हो न सका। पुलिस के छोटी किन्नर की हत्या की साजिश की पहले ही जानकारी हो गई थी।

Prayagraj

यह लोग हुए गिरफ्तार-

करेली पुलिस और एसओजी टीम ने हत्या की योजना बनाने वाले पांच आरोपियों को मछली मंडी के पास गिरफ्तार किया है। पुलिस ने पकड़े गए सुपारी किलर्स के पास से दो देसी तमंचा, दो जिन्दा कारतूस, 11 देसी बम और छह मोबाइल फोन बरामद किए हैं। बता दें कि चार लाख रुपए में हत्या की सुपारी लेकर युवक वारदात की योजना बना रहे थे। इसी दौरान पुलिस और एसओजी टीम ने इमरान, जीशान, आकिब, जैनुल और मोनू को गिरफ्तार कर लिया।



Advertisement