कंगना के समर्थन में पटना से लेकर हिमाचल तक लोग सड़कों पर उतरें

कंगना रनौत गुरुवार को BMC द्वारा ध्वस्त अपने सपनों के महल के मलबे को देखने पहुंची. कंगना के साथ उनकी बहन और उनकी मैनेजर भी पहुंचे जिन्होंने यहां पर BMC द्वारा की गई तोड़फोड़ और नुकसान का जायजा लिया. कंगना के दफ्तर मणिकर्णिका के गेट पर ही मलबे का ढेर था. उसे लांघ कर कंगना किसी तरह अन्दर गईं. तो वहां धुल, और मलबे के अलावा कुछ नहीं था. बालकनी में लगे पौधे तक गिरा दिए गए थे. अन्दर के इंटीरियर को तोडा गया था. फर्नीचर रक् को नहीं छोड़ा गया. जबकि उन चीजों को आसानी से हटाया जा सकता था. अन्दर का हाल ऐसाथा जैसे किसी गली के गुंडे ने जबरन घर में घुस कर तोड़फोड़ मचाई हो.

कंगना के पहुँचने की सूचना पा कर वहां मीडिया का भारी जमावड़ा था. कंगना के समर्थन में काफी आम लोग भी पहुंचे हुए थे. कंगना फर्स्ट फ्लोर तक गईं . वहां घूम घूम तक बिखरी चीजों को देखा. अपने सपनों के आशियाने को मटियामेट देख कंगना के मन और दिल के अन्दर जो उथल-पुथल मची होगी, लेकिन बाहर से वो संयमित दिखीं. हाँ चेहरे पर मायूसी जरूर थी. उम्मीद थी कि कंगना मीडिया के सामने कुछ कहेंगी. लेकिन कंगना से मीडिया से कोई बात नहीं की. चुपचाप अपनी कार में बैठीं और निकल गईं.

उधर BMC औए महाराष्ट्र सरकार की इस हरकत के बाद देश के कई हिस्सों में कंगना के समर्थन में लोग सड़कों पर उतर आयें. क्या पटना और क्या मंडी. हर जगह कंगना के समर्थन में लोगों ने रैली निकाली. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि हिमचल की बेटी का अपमान बर्दास्त नहीं किया जाएगा. मंडी में कंगान के समर्थन में रैली निकाली गई. कंगना की माँ ने गृह मंत्री अमित शाह का धन्यवाद कहते हुए भाजपा में शामिल हो गईं. वो अब तक कांग्रेस में थी और काफी लम्बे वक़्त से थीं.



Advertisement