बिहार विधानसभा चुनाव के साथ ही होंगे यूपी के उपचुनाव, होने जा रहा बहुत बड़ा ऐलान

लखनऊ. आज चुनाव आयोग बिहार विधानसभा के साथ ही उत्तर प्रदेश विधानसभा की आठ खाली सीटों पर उपचुनाव की तारीखों की भी घोषणा कर सकता है। उपचुनाव की तारीखों के साथ ही यूपी की राजनीतिक पार्टियों में सरगर्मी भी तेज हो जाएंगी। आपको बता दें कि यूपी की जिन आठ सीटों पर उपचुनाव होने हैं, उसमें वर्तमान में छह सीटों पर बीजेपी और दो सीटों पर समाजवादी पार्टी का कब्जा है। हालांकि इन आठ सीटों पर उपचुनावों के नतीजों से विधानसभा में बहुमत पर तो कोई खास असर नहीं पड़ने वाला, लेकिन यह उपचुनाव आने वाले विधानसभा चुनाव पर जरूर बड़ा असर डाल सकते हैं। इसीलिए राजनीतिक दल इन उपचुनावों को विधानसभा चुनावों के सेमीफिनल के तौर पर भी देख रहे हैं।


इस वजह से खाली हुईं विधानसभा सीटें

यूपी की जिन आठ विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं, उसमें फिरोजाबाद की टूंडला सीट बीजेपी के डॉ. एसपी सिंह बघेल के सांसद बनने पर उनके इस्तीफे के बाद खाली हुई। रामपुर की स्वार सीट से सपा सांसद आजम खान के पुत्र अब्दुल्ला आजम विधायक थे, लेकिन जन्मतिथि विवाद में हाईकोर्ट ने उनकी सदस्यता रद्द कर दी थी। वहीं उन्नाव की बांगरमऊ से भारतीय जनता पार्टी के कुलदीप सिंह सेंगर विधायक थे। उनकी सदस्यता उम्र कैद की सजा मिलने के चसते रद्द हुई है।


वहीं जौनपुर के मल्हनी क्षेत्र से सपा के पारसनाथ यादव विधायक थे, लेकिन उनके निधन की वजह से यह खाली है। देवरिया सदर से बीजेपी के जन्मेजय सिंह और बुलंदशहर से वीरेंद्र सिरोही की सीटें भी उनके निधन के कारण खाली हैं। कानपुर की घाटमपुर सीट बीजेपी की कमल रानी वरुण और अमरोहा की नौगावां सादात सीट बीजेपी के चेतन चौहान की कोरोना वायरस से मौत होने के चलते खाली हुई है।

इन सीटों पर उपचुनाव

- टूंडला विधानसभा सीट

- स्वार विधानसभा सीट

- बांगरमऊ विधानसभा सीट

- मल्हनी विधानसभा सीट

- देवरिया सदर विधानसभा सीट

- बुलंदशहर विधानसभा सीट

- घाटमपुर विधानसभा सीट

- नौगावां सादात विधानसभा सीट



Advertisement